यूपी: एनकाउंटर से डरे पेशेवर अपराधी माफी की तख्ती लेकर घूमे, कहा- नहीं करेंगे क्राइम

,

उत्तर प्रदेश के शामली के कैराना कोतवाली इलाके के दो शातिर बदमाश अपराध नहीं करने और माफी मांगने की तख्तियां गले में लटकाये घूम रहे हैं.

तख्ती में लिखा है, "मैं भविष्य में किसी भी अपराध में शामिल नहीं रहूंगा. भविष्य में मैं कठिन परिश्रम करके रुपये कमाऊंगा. कृपया हमें माफ कर दें." ये दोनों पेशेवर अपराधी हैं. इन्हें डर है कि कहीं पुलिस उनका एनकाउंटर न कर दे, इसलिए वे ऐसा करके सार्वजनिक तौर पर माफी मांग रहे हैं.

सलीम अली और इरशाद अहमद नाम के ये दोनों अपराधी कई लूट और हत्या के मामलों में आरोपी हैं. उन्हें हाल ही में जमानत पर जेल से छोड़ा गया है. उन्होंने शामली के पुलिस अधीक्षक अजय पाल शर्मा को भी इसी अपील का एक शपथ पत्र दिया है.

पुलिस ने बताया कि उन लोगों पर शामली और कैराना थाने में कई मामले दर्ज हैं. अब वे अपराध छोड़कर एक अच्छा जीवन बिताना चाहते हैं. वह नहीं चाहते कि दूसरे अपराधियों की तरह उनका भी एनकाउंटर कर दिया जाए. अब परिवार के साथ शांतिपूर्ण जीवन जीना चाहते हैं. दोनों एक महीने पहले ही जमानत पर बाहर आए हैं.

पुलिस अधीक्षक अजय पाल शर्मा के अनुसार सलीम और इरशाद उनसे मिले थे. यह बहुत अच्छी बात है, अगर वे लोग अपराध से दूर होकर अच्छा जीवन बिताना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि इनकी अपील से साफ है कि अपराधियों में पुलिस का डर हो गया है, जो कानून-व्यवस्था के लिए जरूरी होता है. पुलिस की उन पर नजर रहेगी.

गौरतलब है कि पिछले छह महीनों में पुलिस अधीक्षक अजय पाल शर्मा पर 'एनकाउंटर स्पेशलिस्ट' का टैग लग गया है. उन्होंने शामली में अब तक छह से ज्यादा अपराधियों को मुठभेड़ों में मार गिराया है जबकि कई अपराधी घायल हुए हैं.