आशा ज्योति केंद्रों पर नहीं दर्ज हो रही ऑनलाइन एफआईआर

,

उत्तर प्रदेश के झांसी में स्थित आशा ज्योति केंद्रों पर ऑनलाइन एफआईआर दर्ज कराने की प्रक्रिया अभी तक शुरू नहीं हो पायी है.

उत्तर प्रदेश राज्य सरकार ने आशा ज्योति केंद्र में शिकायत दर्ज कराने वाली महिलाओं को एक ही छत के नीचे न्याय दिलाने की आशा ज्योति केंद्रों पर ऑनलाइन एफआईआर दर्ज कराने की प्रक्रिया की पहल की थी लेकिन यहां अभी तक यह पहल मूर्त रूप नहीं ले पायी है.

एडीजी टेक्निकल सर्विस ने क्राइम एंड क्रिमिनल ट्रेकिंग नेटवर्क सिस्टम के तहत प्रदेश के सभी 17 आशा ज्योति केंद्रों पर ऑनलाइन प्राथमिकी दर्ज कराये जाने के आदेश दिए थे. यहां मेडिकल कॉलेज स्थित सखी आशा ज्योति केंद्र को ऑनलाइन एफआईआर दर्ज कराने के आदेश दिये थे. मेडिकल कॉलेज स्थित आपकी सखी आशा ज्योति केंद्र में घरेलू हिंसा, बलात्कार, गुमशुदगी, दुर्घटना, छेडछाड पीडित महिलाओं को एक ही छत के नीचे चिकित्सा, कानून और पुनर्वास की सुविधाएं मुहैया करायी जाती हैं.

मेडिकल कॉलेज स्थित रिपरेटिंग पुलिस चौकी पर ही पीडित महिलाओं की एफआईआर पुरानी प्रक्रिया के तहत चल रही है संबंधित थाना क्षेत्रों मे एफआईआर दर्ज की जा रही है हालांकि पीडित महिला को थाने जाने की आवश्यकता नहीं है. तहरीर को लेकर चौकी पर तैनात स्टाफ ही संबंघित थानों में लेकर जा रहे हैं और मुकदमा दर्ज करा रहे हैं.