दिल्ली सचिवालय में माहौल तनाव पूर्ण

,

दिल्ली सचिवालय में बुधवार को माहौल तनावपूर्ण रहा. सभी अधिकारी काम पर लौट आए लेकिन मुख्य सचिव के साथ सोमवार रात मुख्यमंत्री आवास पर हुई हाथापाई के बाद अधिकारी तनाव से ग्रस्त हैं.

एक अधिकारी ने कहा कि सबसे वरिष्ठ नौकरशाह से हाथापाई के बाद स्थिति सामान्य होने संभव नहीं है भले ही अधिकारी काम पर लौट आए हैं. इसके दो कारण हैं.

पहला, कि देर रात मुख्य सचिव को बैठक में बुलाने का कोई औचित्य ही नहीं है. सरल व्यक्तित्व के अधिकारी हैं तो मध्यरात्रि में पहुंच गए. लेकिन इतनी बड़ी घटना से हर स्तर का अधिकारी हतप्रभ है.

एक अन्य अधिकारी ने मंत्रियों द्वारा देर रात बैठक बुलाए जाने की परंपरा पर कड़ा विरोध प्रकट किया. उन्होने कहा कि आम आदमी पार्टी सरकार के मंत्री ने देर रात बैठक करने की परंपरा शुरू कर दी है.

यह विचित्र परंपरा है. बैठक में पहुंचने पर अब खतरा होना संभव हो गया है. अधिकारियों को इसपर विचार करना होगा.

दास काडर के अध्यक्ष डीएन सिंह ने बताया कि कर्मचारियों में भारी गुस्ता ब्याप्त है. ये कर्मचारी गुस्से में हाथापाई न करें इसके लिए लगातार नगर रखना पड़ रहा है.

मुख्य सचिव के साथ हाथापाई की घटना के बाद छह बजे के बाद कोई सरकारी काम करना संभव नहीं है.