अमेरिका गोलीबारी: बंदूकधारी के पास था अतिरिक्त गोला बारूद, तीन मिनट तक की गोलीबारी

,

फ्लोरिडा के एक हाई स्कूल में एक अर्धस्वचालित रायफल से 17 लोगों की हत्या करने के आरोपी किशोर ने देश में गोलीबारी की सबसे भीषण घटनाओं में शामिल इस घटना को अंजाम देने की बात स्वीकार कर ली है.

शेरिफ विभाग की आज जारी रिपोर्ट के अनुसार आरोपी के पिट्ठू बैग में अतिरिक्त गोला बारूद था.

ब्रोवार्ड काउंटी शेरिफ के कार्यालय ने बताया कि निकोलस वूज ने जांचकर्ताओं को बताया कि उसने मियामी के उत्तर में पार्कलैंड के मार्जरी स्टोनमैन डगलस हाई स्कूल के मैदानों और गलियारों में छात्रों पर गोलियां चलाईं.

वूज ने बताया कि वह स्कूल में अतिरिक्त मैगजीन लेकर गया था और परिसर में पहुंचने तक उसने उन्हें अपने बैग में रखा.
 
शेरिफ स्कॉट इसाइल ने बताया कि बंदूकधारी ने पांच कक्षाओं में गोलीबारी की. इनमें से चार कक्षाएं पहले तल और एक कक्षा दूसरे तल पर हैं.
 
इसाइल ने बताया कि उसने गोलीबारी तीन मिनट तक की. गोलीबारी करने के बाद हमलावर तीसरे तल पर गया और उसने अपनी एआर 15 रायफल और गोला बारूद से भरा पिट्ठू बैग गिरा दिया. इसके बाद वह इमारत से भागा और उसने बच कर भाग रहे छात्रों में शामिल होने की कोशिश की.

शेरिफ ने कहा कि इसके बाद संदिग्ध वाल मार्ट गया और उसने मैकडॉनल्ड्स जाने से पहले एक सबवे रेस्तरां से पेय पदार्थ खरीदा. मैकडॉनल्ड्स से जाने के करीब 40 मिनट बाद उसे हिरासत में लिया गया.
 
19 वर्षीय वूज अनाथ है और उसकी मां का पिछले साल निधन हो गया था. उसके खिलाफ हत्या के आरोप आज तय किए गए.
 
अधिकारियों ने घटनास्थल का निरीक्षण करने के बाद शवों को आज स्कूल से हटा दिया. घायल लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है जिनमें से दो की हालत गंभीर है. 
 
अधिकारियों ने हत्या के पीछे का कोई विशेष कारण नहीं बताया है. उन्होंने केवल यह जानकारी दी कि वूज को स्कूल से निष्कासित किया गया था.