अदालत ने आईएम के संदिग्ध आतंकवादी को 25 दिन की पुलिस हिरासत में भेजा

,

दिल्ली की एक अदालत ने इंडियन मुजाहिदीन के एक संदिग्ध आतंकवादी को 25 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया है.

उक्त संदिग्ध 2008 की बटला हाउस मुठभेड के दौरान फरार हो गया था और विस्फोट के अन्य कई मामलों में वांछित था.

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश सिद्धार्थ शर्मा ने अरिज खान को 25 दिनों के लिए पुलिस की पूछताछ हिरासत में भेज दिया है.

13 फरवरी को गिरफ्तार किये गये खान को कल शाम अदालत में पेश किया गया.
खान की हिरासत की मांग करते हुए पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ ने अदालत से कहा कि बटला हाउस मामला और उत्तर प्रदेश, गुजरात तथा दिल्ली में हुए अन्य विस्फोटों के संबंध में पूछताछ करने के लिए उसकी जरूरत है.

डीसीपी स्पेशल सेली पीएस कुशवाहा ने कल बताया था कि दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की एक टीम ने आरिज खान (32)  को भारत - नेपाल सीमा पर बनवासा से 13 फरवरी की शाम गिरफ्तार किया था.


       
कुशवाहा ने बताया कि खान देश में आईएम और सिमी के बडे नेताओं के गिरफ्तार होने के बाद इन संगठनों में नयी जान फूंकने की कोशिश में शामिल था. वह एक दशक से फरार था और उसकी गिरफ्तारी पर 15  लाख रूपये का ईनाम था.

वह आईएम के आजमगढ संजरपुरी माड्यूल का एक सदस्य था और नेपाल में रहता था, जहां वह एक स्कूल में पढाता था. उसके सहयोगी तौकीर को इससे पहले दिल्ली पुलिस ने इस साल जनवरी में गिरफ्तार किया था.

गौरतलब है कि 19 सितंबर 2008 को दिल्ली के जामिया नगर स्थित बटला हाउस में हुई मुठभेड में चार अन्य लोगों के साथ खान भी मौजूद था. मुठभेड के दौरान वह वहां से भाग निकला था. हालांकि इस घटना में इंडियन मुजाहिदीन के दो आतंकवादी मारे गए थे और कई को गिरफ्तार किया गया था.