लोन पर कार्रवाई न होने से गरमायी राजनीति

,

जम्मू कश्मीर विधानसभा में पाकिस्तान-जिंदाबाद का नारा लगाने वाले विपक्षी दल नेशनल कान्फ्रेंस के वरिष्ठ सदस्य मोहम्मद अकबर लोन पर अब तक कोई कार्रवाई न होने के कारण यह मामला लगातार गरमाया हुआ है.

गौरतलब है कि 10 फरवरी को जिस दिन जम्मू के सुंजवान सैन्य शिविर पर पाकिस्तानी फिदायीनों का हमला हुआ था, उस दिन विधानसभा अध्यक्ष कविंद्र गुप्ता ने सदन में इस हमले के तार रोहिंग्या समुदाय के लोगों से भी जुड़े होने की बात कही थी. इस पर विपक्ष द्वारा काफी हंगामा किया गया था. उसी दौरान जब भाजपा के सदस्य सदन में पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगा रहे थे, तभी विपक्षी नेशनल कान्फ्रेंस के सदस्य मोहम्मद अकबर लोन ने पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाकर सदन में शर्मनाक स्थिति पैदा कर दी थी. 

हैरत की बात यह है कि लोन पर विधानसभा अध्यक्ष कविंद्र गुप्ता ने, जो भाजपा के गांधीनगर से विधायक है, अब तक कोई कार्रवाई नहीं की है. इससे विपक्षी कांग्रेस तथा पैंथर्स पार्टी को राजनीति करने का मौका मिल गया है. ये दोनों दल लगातार भाजपा पर हमले कर रहे हैं. इस स्थिति को देखते हुए अब भाजपा के रामनगर से विधायक आरएस पठानिया ने विधानसभा अध्यक्ष कविंद्र गुप्ता के समक्ष एक लिखित शिकायत दर्ज करवाकर विधानसभा के नियम 247 के तहत नेकां सदस्य मोहम्मद अकबर लोन के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है. भाजपा सदस्य पठानिया ने यह भी कहा कि यह मामला विधानसभा की विशेषाधिकार समिति को सौंपा जाए. पठानिया ने यह भी कहा है कि लोन ने संविधान के तहत ली गई शपथ का भी घोर उल्लंघन किया है. ऐसी ही मांग भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता एडवोकेट सुनील सेठी, एमएलसी रमेश अरोड़ा आदि ने भी की है. 

काबिलेगौर है कि उक्त मामले को लेकर भाजपा के विधानसभा सदस्यों का मजाक उड़ाते एक वीडियो भी वायरल हुआ है. जिसमें विधानसभा के एक सदस्य के आवाज की जगह कुत्ते के भोकंने की आवाज आती है. बहरहाल, न केवल पैंथर्स पार्टी के चेयरमैन एवं पूर्व मंत्री हषर्देव सिंह ने, बल्कि प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता एडवोकेट रविंद्र शर्मा ने भी भाजपा विधायक आरएस पठानिया द्वारा विधानसभा अध्यक्ष कविंद्र गुप्ता के समक्ष दर्ज करवाई गई लिखित शिकायत को महज ढकोसलेबाजी कहा है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रविंद्र शर्मा का कहना है कि घटना के दिन न केवल विधानसभा अध्यक्ष कविंद्र गुप्ता आसन पर आसीन थे, बल्कि भाजपा के सभी विधायक भी सदन में मौजूद थे. हैरानी की बात यह है कि विधानसभा अध्यक्ष ने पाकिस्तान जिंदाबाद कहने वाले नेकां विधायक के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की. जबकि उनके पास अधिकार पर्याप्त हैं. शर्मा ने कहा कि देशद्रोह के मुकदमे के अलावा नेकां विधायक के खिलाफ और भी तरह के एक्शन संभव हैं.