INDvSA: सीरीज में 5-1 के लक्ष्य के साथ उतरेगा भारत

,

श्रृंखला में ऐतिहासिक जीत के बाद भारतीय टीम कल दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ छठे और आखिरी वनडे में अपनी बेंच स्ट्रेंथ को आजमाने उतरेगी जबकि मेजबान का प्रयास प्रतिष्ठा बचाने का होगा.

भारतीय टीम छह मैचों की श्रृंखला पहले ही 4-1 से जीत चुकी है. उसे एकमात्र पराजय जोहानिसबर्ग में वष्राबाधित चौथे वनडे में मिली थी. 

पिछले मैच में मिली जीत के साथ भारत ने आईसीसी वनडे रैंिकग में नंबर वन का स्थान दक्षिण अप्रीका से छीन लिया है.

भारत उसी लय को कायम रखने के इरादे से उतरेगा क्योंकि इसके बाद टी20 श्रृंखला भी तुरंत होनी है. इस साल लंबे विदेशी सत्र को ध्यान में रखते हुए कप्तान विराट कोहली बेंच स्ट्रेंथ को भी आजमाना चाहेंगे.

भुवनेश्वर कुमार ने श्रीलंका में सीमित ओवरों की श्रृंखला के बाद से लगातार खेला है जिसमें 19 वनडे, छह टी20 मैच और दो टेस्ट शामिल है. जसप्रीत बुमराह भी 20 वनडे और आठ टी20 खेल चुके हैं. टेस्ट श्रृंखला खेलने से उनका कार्यभार और बढ गया. दोनों को आराम की जरूरत है.

भुवनेश्वर कुमार ने श्रीलंका में सीमित ओवरों की श्रृंखला के बाद से लगातार खेला है जिसमें 19 वनडे, छह टी20 मैच और दो टेस्ट शामिल है. जसप्रीत बुमराह भी 20 वनडे और आठ टी20 खेल चुके हैं. टेस्ट श्रृंखला खेलने से उनका कार्यभार और बढ गया. दोनों को आराम की जरूरत है.

भारत के वैकल्पिक तेज गेंदबाजों को भी आजमाना जरूरी है. श्रीलंका दौरे के बाद से भारत ने 20 वनडे खेले हैं और भुवनेश्वर बुमराह की जोडी सिर्फ एक में बाहर रही जो बेंगलूरू में आस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला गया था. 

टीम इंडिया की इन दोनों पर निर्भरता बढती जा रही है लेकिन 2019 वि कप को ध्यान में रखते हुए टीम प्रबंधन दूसरों को भी आजमाना चाहेगा.  मोहम्मद शमी ने 2015 विश्व कप के बाद सिर्फ तीन वनडे खेले हैं.चोट से लौटने के बाद उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ पिछले साल दो और आस्ट्रेलिया के खिलाफ एक मैच खेला.

मौजूदा टीम में चौथे तेज गेंदबाज शर्दुल ठाकुर ने दो वनडे ही खेले हैं. भारत को भुवनेर और बुमराह से आगे भी तेज आक्रमण के बारे में सोचना होगा.

मध्यम पर भी गौर करने की जरूरत है.इस श्रृंखला में चौथे से सातवें नंबर के बल्लेबाजों के बीच सिर्फ एक अर्धशतक बना है. अजिंक्य रहाणे ने डरबन में अर्धशतक बनाया जबकि एम एस धोनी ने वांडर्स पर 43 गेंद में नाबाद 42 रन बनाये.

श्रेयस अय्यर दोनों मैचों में अच्छी शुरूआत को बढिया पारी में नहीं बदल सके. रहाणे नंबर चार पर विफल रहे जबकि हार्दिक पंड्या चार मैचों में 26 रन ही बना सके.  भारत के लिये शीर्ष वम ने अच्छा प्रदर्शन किया है लेकिन मध्यवम अपेक्षाओं पर खरा नहीं उतर सका.

मनीष पांडे और दिनेश कार्तिक को टीम में होते हुए अभी तक एक भी मैच नहीं मिला है. भारतीय टीम ने आज अभ्यास नहीं किया. दूसरी ओर दक्षिण अप्रीका आखिरी मैच जीतकर टी20 श्रृंखला में बढे हुए हौसलों के साथ उतरना चाहेगा.

आस्ट्रेलिया के दौरे से पहले कई शीर्ष गेंदबाजों को आराम दिया गया और कागिसो रबाडा, मोर्नी मोर्कल, इमरान ताहिर , लुंगी एंगिडि के पास छाप छोडने का यह आखिरी मौका है.
टीमें :
भारत : विराट कोहली  कप्तानी, शिखर धवन, रोहित शर्मा, अजिंक्य रहाणे, श्रेयस अय्यर, मनीष पांडे, दिनेश कार्तिक, केदार जाधव, एम एस धोनी, हार्दिक पंड्या, युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव, अक्षर पटेल, भुवनेर कुमार, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, शरदुल ठाकुर. 
दक्षिण अफ्रीका : एडेन मार्करेम  कप्तानी , हाशिम अमला, जेपी डुमिनी, इमरान ताहिर, डेविड मिलर, मोर्नी मोर्कल, विस मौरिस, एल एंगिडि, एंडिले पी, कागिसो रबाडा, तबरेज शम्सी, के जोंडो, फरहान बेहार्डियेन, हेनरिच क्लासेन, एबी डिविलियर्स.

मैच का समय : शाम 4.30 से.