Video: ...जब अक्षय बोले, सड़क किसी के बाप की नहीं

वार्ता , नयी दिल्ली

सड़क सुरक्षा के ब्रांड एम्बेसडर मशहूर अभिनेता अक्षय कुमार पर फिल्माए गए तीन वीडियो मंगलवार को यहां जारी किये गये जिनमें बिना हेलमेट के झूमते हुए वाहन चलाने, सीट बेल्ट नहीं बांधने, गलत दिशा में मुड़ने और नियमों का फक्र से उल्लंघन करने वालों को ‘सड़क किसी के बाप की नहीं’ जैसी शब्दावली के जरिए नये अंदाज में जागरूक करने का प्रयास किया गया है।

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी और राज्य मंत्री मनसुख लाल मांडविया की मौजूदगी में यहां एक कार्यक्रम में इन तीनों वीडियो को जारी किए जाने के बाद अभिनेता अक्षय कुमार ने कहा कि उन्होंने राष्ट्रसेवा के भाव से ‘सड़क सुरक्षा एम्बेसडर’ बनने का काम हाथ में लिया है और नये तरीके से संदेश देने का प्रयास किया है।

 

 

उन्होंने कहा कि यदि वह सीधे अपनी बात कहेंगे तो कोई सुनने वाला नहीं है इसलिए सड़कों पर आए दिन जो कुछ घटता है और आम तौर पर होता है उसी भाव से यह वीडियो तैयार किया गया है।

अक्षय ने कहा, "जीवन में कई सड़क दुर्घटनाएं देखी हैं। लोग मारे जाते हैं और कई अपंग हो जाते हैं। सड़क सुरक्षा को लेकर ब्रांड एम्बेसडर बनाने की बात आयी तो मैं समाज सेवा के लिए इस मौके को छोड़ना नहीं चाहता था। देश सेवा के लिए यह अच्छा मौका था। इसके बाद फिल्म तैयार करने की बात थी तो मैंने रोजमर्रा के अनुभव के आधार पर ‘सड़क किसी के बाप की नहीं’ जैसी शब्दावली के साथ फिल्म तैयार की।"

 

 

उन्होंने कहा, "यह वाक्य ‘सड़क किसी के बाप की नहीं’ संदेश देने का नया और हास्य वाला तरीका है। मैं अगर खड़े होकर कहता कि हेलमेट पहनो, सीट बेल्ट बांधो, गलत मत मुड़ो तो कोई मेरी बात नहीं मानता। इसके लिए हास्य का तरीका अनाया गया है। अगर कोई कहे हां सड़क मेरे बाप की है तो उसके लिए जवाब है-सड़क सुरक्षा जीवन रक्षा।"