SC/ST एक्ट के विरोध में राजस्थान बंद, पुलिस अलर्ट

वार्ता, जयपुर

सवर्ण समाज संघर्ष समिति और समता आंदोलन के आवान पर केन्द्र सरकार के अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जन जाति (एससीएसटी) अधिनियम के विरोध में आज भारत बंद  समूचे प्रदेश में कडी सुरक्षा के बीच शांति के साथ शुरू हुआ।
           
बंद के मद्देनजर राज्य सरकार ने पुलिस को कानून एवं शांति व्यवस्था बनाये रखने के निर्देश दिया है तथा एहतियात के तौर पर दस जिलों में अतिरिक्त पुलिस कंपनिया तैनात की गयी है।
           
बंद के मद्देनजर जयपुर सहित समूचे प्रदेश में अधिकांश गैर सरकारी शिक्षण संस्थाओं ने स्कूलों में अवकाश घोषित कर दिया वहीं व्यापारिक प्रतिष्ठानों ने पहले से ही अपने प्रतिष्ठान बंद रखने का एलान कर रखा है। बंद का सर्वाधिक असर राजधानी जयपुर सहित हिडोंन, करौली, बांरा, जोधपुर सहित कई जगह अतिरिक्त  पुलिस बल लगाया गया है।  प्रांरभिक सूचना के अनुसार बंद स्वैच्छिक नजर आ रहा है और कहीं से भी बंद समर्थकों की टोलियां सड़कों पर नजर नही आ रही है।
      
पुलिस ने बंद को देखते हुये प्रशासन ने समता आंदोलन के अध्यक्ष पारसनारायण को नजरबंद कर लिया है। प्रशासन ने आंदोलन के दो दर्जन से अधिक नेताओं को घरों में ही रहने के लिये पाबंद किया है।
    
राजधानी जयपुर में बंद समर्थकों की टोलियां तो नजर नही आ रही है लेकिन  गैर सरकारी शिक्षण संस्थाओं ने एहतिहात के तौर पर स्कूलों में अवकाश रखा। वहीं कई पेट्रोल पंपों ने भी बंद को समर्थन देते हुये तीन घंटे के लिये पंप बंद रखे। बंद को डेढ दर्जन से अधिक समाजों के अलावा व्यापारिक संगठनों ने भी समर्थन दिया है।
 
 राजस्थान के जोधपुर, कोटा, बीकानेर, अजमेर सहित कई स्थानों पर बंद की शांतिपूण शुरूआत के समाचार मिले है और गैर सरकारी शिक्षण संस्थाओं में अवकाश रखा गया है।