IPL-11 : हैदराबाद ने शुरुआती मैच में राजस्थान को नौ विकेट से रौंदा

आईएएनएस, हैदराबाद

गेंदबाजों के बेहतरीन प्रदर्शन के बाद सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (नाबाद 77) की अर्धशतकीय पारी के दम पर सनराइजर्स हैदराबाद ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 11वें संस्करण में जीत से साथ शुरुआत की है।

हैदराबाद ने सोमवार को अपने घर राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम में खेले गए मैच में राजस्थान रॉयल्स को नौ विकेट से हरा दिया।

हैदराबाद के गेंदबाजों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए राजस्थान को निर्धारित 20 ओवरों में नौ विकेट के नुकसान पर 125 रनों पर सीमित कर दिया और फिर धवन की अर्धशतकीय पारी के दम पर इस लक्ष्य को 15.5 ओवरों में एक विकेट खोकर हासिल कर लिया।

हैदराबाद के लिए सिद्धार्थ कौल ने चार ओवरों में महज 17 रन देकर दो विकेट लिए। शाकिब अल हसन ने चार ओवर में 23 रन देकर दो विकेट अपनी झोली में डाले। राशिद खान, बिलि स्टानलेक और भुवनेश्वर कुमार को एक-एक सफलता मिली। यह तीनों गेंदबाज भी किफायती साबित हुए।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी हैदराबाद का एकमात्र विकेट दूसरे ओवर की तीसरी गेंद पर रिद्धिमान साहा (5) के रूप में गिरा। वह छह के कुल स्कोर पर जयदेव उनादकट का शिकार बने। इसके बाद कप्तान केन विलियमसन ने धवन का साथ दिया और राजस्थान को दूसरी सफलता से वंचित रखा।

धवन ने कप्तान के साथ मिलकर दूसरे विकेट के लिए 121 रनों की साझेदारी की। धवन ने अपनी पारी में 57 गेंदों का सामना किया और 13 चौकों के अलावा एक छक्का लगाया। वहीं विलियमसन ने 35 गेंदों में तीन चौके और एक छक्के की मदद से नाबाद 36 रन बनाए।

इससे पहले, विलियमसन ने टॉस जीतकर राजस्थान को बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया ता। राजस्थान की तरफ से संजू सैमसन ने सर्वाधिक 49 रन बनाए। उनके अलावा और कोई बल्लेबाज विकेट पर पैर नहीं जमा सका।

अपना पहला आईपीएल खेल रहे डी आर्की शॉर्ट सिर्फ एक चौका मार पहले ओवर की आखिरी गेंद पर रन आउट हो गए। इसके बाद सैमसन और कप्तान अजिंक्य रहाणे (13) ने टीम को संभालते हुए स्कोर बोर्ड पर 6.5 ओवरों में 52 रन पहुंचा दिया। इसी स्कोर पर रहाणे, सिद्धार्थ की गेंद पर राशिद द्वारा सीमा रेखा पर लपके गए।

हरफनमौला खिलाड़ी बेन स्टोक्स से टीम को काफी उम्मीदें थीं, लेकिन वह सिर्फ पांच रन ही बना सके और बिलि स्टानलेक का शिकर बने। यहां से राजस्थान की टीम लगातार विकेट खोने लगी। राहुल त्रिपाठी ने 17 रन बनाए। उन्हें शाकिब ने मनीष पांडे के हाथों कैच कराया। शाकिब ने ही सैमसन को अर्धशतक से एक रन से दूर कर दिया। सैमसन ने अपनी 42 गेंदों की पारी में पांच चौके लगाए।

अंत में कोई बल्लेबाज बड़े शॉट नहीं लगा सका और राजस्थान की टीम बड़े स्कोर से महरूम रह गई।