BJP ने हमारे विधायकों को दिया 100-100 करोड़ का ऑफर: कुमारस्वामी

समयलाइव डेस्क/वार्ता , बेंगलुरु

कर्नाटक विधानसभा चुनाव परिणामों के बाद राज्य में सरकार बनाने को लेकर राजनीतिक उठा पटक जारी है। इस बीच जेडीएस के नेता एचडी कुमारस्वामी ने भाजपा पर पार्टी के विधायकों को पाला बदलने के लिए 100 करोड़ का ऑफर देने का आरोप लगाया है।

जेडीएस के नव निर्वाचित विधायकों की बैठक में आज कुमारस्वामी को विधायक दल का नेता चुना गया। नेता चुने जाने के बाद कुमारस्वामी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि भाजपा से गठबंधन का कोई प्रश्न ही नहीं है और उसने हमेशा जेडीएस के वोटों को बांटने का प्रयास किया है।

उन्होंने आरोप लगाया कि आयकर विभाग और अन्य एजेंसियों का इस्तेमाल विपक्ष को निशाना बनाने के लिए किया जा रहा है। केन्द्र सरकार अपने अधिकारों का गलत इस्तेमाल कर रही है और नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री होने के बावजूद भाजपा को बहुमत दिलाने में नाकाम रहे।

उन्होंने कहा कि वह नहीं चाहते हैं कि कर्नाटक में विधायकों की खरीद-फरोख्त की जाये। साथ ही उन्होंने भाजपा पर उनकी पार्टी के विधायकों को 100 करोड़ रुपए और मंत्री पद का ऑफर देने का आरोप लगाया।

कुमारस्वामी ने कहा, "जेडीएस विधायकों को 100 करोड़ रुपए का ऑफर दिया जा रहा है। यह कालाधन कहां से आ रहा है? उन्हें गरीब लोगों की मदद करनी चाहिए और वे लोग आज पैसा ऑफर कर रहे हैं। आयकर अधिकारी कहां हैं।"

भाजपा से गठबंधन से स्पष्ट इंकार करते हुए जेडीएस नेता ने कांग्रेस का समर्थन के लिए धन्यवाद करते हुए कहा कि भाजपा ने स्वयं जो अन्य राज्यों में किया है उसके बाद उसे कोई अधिकार नहीं है कि हमें नैतिकता का पाठ पढ़ाये। भाजपा के पास सरकार बनाने के लिए पर्याप्त विधायक नहीं हैं और राज्यपाल को हमें आमंत्रित करना ही होगा।

उन्होंने कहा, "भाजपा और कांग्रेस दोनों ने हमसे संपर्क किया था। हम भाजपा को बहुत अच्छी तरह से जानते हैं और इस बार हम सिर्फ कांग्रेस के साथ जायेंगे। उन्होंने कहा बिना पार्टी के बहुमत के मैं मुख्यमंत्री बनूंगा इसका मुझे दुख है लेकिन कर्नाटक की जनता के लिए मुझे यह करना पड़ रहा है। मैं अपने पिता की इच्छाओं के विरुद्ध नहीं जाना चाहता।"

कुमारस्वामी ने भाजपा को चेताया कि यदि पार्टी ने सरकार बनाने के लिए उनकी पार्टी या कांग्रेस के विधायकों की खरीद-फरोख्त करने का प्रयास किया तो हम उनका दुगना नुकसाना करेंगे। उन्होंने कहा यह सरकार बनाने का सवाल नहीं है। यह विचारधारा के खिलाफ खड़े रहने का सवाल है और हम भाजपा की विचारधारा के विरुद्ध हैं।

सरकार बनाने के लिए कांग्रेस के बिना किसी शर्त के समर्थन की बात करते हुए भाजपा के कर्नाटक प्रभारी प्रकाश जावड़ेकर से मुलाकत के संबंध में पूछे गए सवाल पर जेडीएस नेता ने कहा कि वह हैं कौन। भाजपा के किसी भी नेता से मुलाकात करने की खबर को बकवास बताते हुए कुमारास्वामी ने कहा वह कांग्रेस के राज्य अध्यक्ष जी परमेश्वर के साथ एक बार फिर राज्यपाल वाजूभाई वाला से मुलाकात करेंगे।

कर्नाटक विधानसभा चुनाव के नतीजों में किसी भी दल को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला है। कांग्रेस 78 और जेडीएस 38 सीटों के साथ गठबंधन कर सरकार बनाने का दावा पेश कर चुके हैं। जेडीएस और कांग्रेस मिलाकर बहुमत के आंकड़े को हासिल करने में सक्षम है। वहीं, भाजपा 104 सीटों के साथ कर्नाटक में सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी है, लेकिन बहुमत से 8 सीट दूर है। भाजपा भी राज्य में सरकार बनाने के लिए प्रयासरत है।