2019 महत्वपूर्ण, एक मौका और दें : जुकरबर्ग

एजेंसी, वाशिंगटन/नई दिल्ली

फेसबुक के मुख्य कार्यपालक अधिकारी मार्क जुकरबर्ग ने कंपनी के संचालन के मामले में एक और मौका दिये जाने की बुधवार को मांग की। हालांकि उन्होंने यह भी माना है कि उनकी कंपनी ने अपने उपयोगकर्ताओं की सूचना तीसरे पक्ष के साथ साझा कर गलती की है।

वर्ष 2004 में फेसबुक की स्थापना करने वाले जुकरबर्ग ने फिर से चूक की बात स्वीकार की और कंपनी की अगुवाई के लिए एक और मौका दिये जाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि भारत में इस साल होने वाले चुनाव उसके लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं और फेसबुक अपनी सुरक्षा चाकचौबंद कर रही है।

जुकरबर्ग ने कहा, ‘अमेरिका में अलबामा में पिछले साल हुए विशेष चुनाव में हमने मनमर्जी की सूचना फैलाने वाले ट्रोल को पकड़ने के लिए कुछ नए कृत्रिम मेधा (एआई) टूल सफलतापूर्वक लागू किए। इस समय हमारे 15,000 लोग सुरक्षा व सामग्री समीक्षा पर काम कर रहे हैं।’

एनालिटिका के जवाब का इंतजार : फेसबुक डेटा लीक मामले में कार्रवाई का फैसला करने से पहले सरकार ब्रिटिश डेटा विश्लेषण कंपनी कैंब्रिज एनालिटिका के जवाब का इंतजार करेगी। सूत्रों ने यह जानकारी दी। एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने इस बात की पुष्टि की कि इस मामले में फेसबुक को भेजे गए नोटिस का जवाब आईटी मंत्रालय को मिल गया है।