100 महिलाएं बनीं मिसाल, किया गया सम्मानित

समयलाइव डेस्क, नयी दिल्ली

बेहतर सामाजिक योगदान के लिए सीओडब्ल्यूई की ओर से आयोजित वुमेनोवेटर कार्यक्रम में सौ महिला उद्यमियों को अवॉर्ड दिए गए। यह महिला उद्यमी नई पीढी की महिलाओं का प्रतिनिधित्व करती हैं।

दिल्ली में सोमवार को होटल शांग्रीला में आयोजित इस कार्यक्रम में 100 महिलाओं को पुरस्कार प्रदान करने के लिए अतिथि के रूप में विशेष पुलिस आयुक्त दीपेन्द्र पाठक, शहनाज हुसैन और दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी उपस्थित थे।

सीओडब्ल्यूई ने केजीएस एडवाइजर्स और केईआई इंडस्ट्रीस के सहयोग से ये कैंपेन शुरू किया है, जिसमें प्रेरणादायक महिलाओं और उनकी कोशिशों को 'वूमेनोवेटर 100 वूमेन फेसेस 2018' के जरिए सराहा जाता है।

इस कार्यक्रम में नासिक की मंजू रथी को सम्मानित किया गया। मंजू रथी महाराष्ट्र में आत्महत्या करने वाले किसानों के बच्चों के बीच जाकर उनका मनोबल बढाती हैं और उन्हें वेल्यू एजुकेशन देती हैं।

आईआईएम की डिग्री लेकर रीती वाधवा बड़े मीडिया ग्रुप की नौकरी छोड़कर प्रोफेशनल स्पीकर बनी हैं और चार वर्षों से बड़े कारपोरेट संस्थानों के कर्मियों कामोटिवेशन स्तर बढ़ाने का नया काम शुरू किया है जिसमें वे काफी सफल हैं। उन्हें भी पुरस्कृत किया गया।

गौरी चक्रवर्ती वंशव्योम नाम से सामाजिक कार्यक्रम चलाती हैं। वह कथक की नृत्यांगना हैं और वंशव्योम के माध्यम से युवा नृत्यांगनाओं के साथ 70 वर्ष उम्र की महिलाओं को भी इस विधा से जोड़ती हैं। नृत्य के अलावा गौरी महिलाओं के बीच समाज में उनके विशेष योगदान को रेखांकित करती हैं ताकि उम्रदराज महिलाएं एकाकीपन न महसूस करें। शिक्षा के क्षेत्र में गौरी सैकड़ों युवतियों का सशक्तीकरण करती हैं ताकि वे समाज में अपना बेहतर लक्ष्य हासिल कर सकें। वे आज की विजेता में शामिल की गई।

चारूलता नरूला वाजपेयी ने यूनिवर्सिटी कनेक्शन नामक संस्थान के जरिये राजधानी के युवाओं के विश्व के प्रख्यात विश्वविद्यालय तक पहुंचने का रास्ता प्रशस्त किया है। उल्लेखनीय योगदान के लिए उन्हें पुरस्कृत किया गया।

स्नेह राउत को बिहार और उड़ीसा की महिलाओं के बीच फ्री स्वास्थ्य जांच कार्यक्रम चलाने के लिए पुरस्कृत किया गया। वे बिहार के हेरिटेज को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रचारित करती हैं।

अजंता चंदन को महिला उद्यमियों के कार्यक्रम में पुरस्कृत किया गया। वह बेंगलुरू में महिला सेल्फ हेल्प ग्रुप के बीच सक्रिय हैं और उन्हें उद्यमी बनने की ट्रेनिंग देती हैं।

सीओडब्ल्यूई की संस्थापक, केजीएस एडवाइजर्स की सीईओ और वूमेनोवेटर की सह-संस्थापक तृप्ति सिंघल का कहना है कि इस कार्यक्रम का मकसद न केवल इन महिलाओं को पहचान दिलाना और अवॉर्ड देना है बल्कि वूमेनोवेटर, मेंटर, वित्तीय सलाहकार, विभिन्न मीडिया प्लेटफार्मों और सरकारी योजनाओं से उन्हें जोड़कर उनके सशक्तिकरण को सुनिश्चित करना है।

ये कार्यक्रम केईआई इंडस्ट्रीज लि., गेल, पेट्रोनेट एलएनजी लि., साउथ इंडियन बैंक, सहारा न्यूज नेटवर्क और कैच- साल्ट एंड स्पाइसेस ने मिलकर प्रायोजित किया।