ह्यूमन ट्रैफिकिंग के आरोप में सात गिरफ्तार

सहारा न्यूज ब्यूरो, गाजियाबाद

पश्चिम बंगाल की पुलिस ने गाजियाबाद की पुलिस की सहायता से ह्यूमन ट्रैफि किंग के एक मामले का पर्दाफाश किया है। कुछ युवक प्रेम जाल में फांसकर लाई गई लड़कियों को गाजियाबाद में बेच जाते थे। गाजियाबाद से ऐसी लड़कियों को मेरठ व अन्य शहरों में बेच दिया जाता था। इस मामले में गाजियाबाद के नंदग्राम इलाके से चार महिलाओं व तीन पुरुषों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने इनसे दो लड़कियों को मुक्त भी कराया है। गिरफ्तार लोगों को गाजियाबाद की एक कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट ने सभी आरोपियों को ट्रांजिट रिमांड पर हावड़ा की पुलिस को सौंप दिया।
एसपी सिटी आकाश तोमर के अनुसार पश्चिम बंगाल के हावड़ा से पुलिस टीम गाजियाबाद आई थी। गाजियाबाद की पुलिस के सहयोग से नंदग्राम इलाके के एक मकान में छापा मारकर दो लड़कियों को मुक्त कराया गया। साथ ही मौके पर मौजूद चार महिलाओं व तीन पुरुषों को गिरफ्तार किया गया। मुक्त कराई गई लड़कियों को गाजियाबाद लाकर बेच दिया गया था। इनमें से एक लड़की उड़ीसा की तो दूसरी पश्चिम बंगाल की है। गिरफ्तार लोगों व मुक्त कराई लड़कियों को गाजियाबाद की एक कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट ने सभी आरोपियों को ट्रांजिट रिमांड पर हावड़ा की पुलिस को सौंप दिया। हावड़ा पुलिस की दो टीमें आरोपियों व मुक्त कराई गई लड़कियों को अलग-अलग लेकर हावड़ा के लिए रवाना हो गई हैं।
पुलिस के अनुसार हावड़ा की पुलिस ने एक लड़की के अपहरण के मामले में दर्ज मुकदमे के सिलसिले में शरीफुल नामक युवक व उसके दो साथियों को गिरफ्तार किया था। उनकी निशानदेही पर हावड़ा पुलिस गाजियाबाद पहुंची थी। यहां नंदग्राम में एक मकान में छापा मारा गया। मौके पर बेची गई दो लड़कियों के अलावा देवेंद्र, मुकेश, राकेश, भारती शर्मा, रुचि, सोनिया व संतो मिले। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर दोनों लड़कियों को मुक्त कराया।