सिंधु, सायना व प्रणीत क्वार्टर फाइनल में, श्रीकांत हारे

वार्ता, नानजिंग

भारत की दो शीर्ष महिला खिलाड़ियों तीसरी सीड पीवी सिंधु व 10वीं सीड सायना नेहवाल और पुरुष खिलाड़ी बीसाई प्रणीत ने जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया। लेकिन पांचवीं सीड किदाम्बी श्रीकांत उलटफेर का शिकार होकर बाहर हो गए। विश्व चैंपियनशिप में रजत पदक विजेता सिंधु ने नौवीं सीड कोरिया की सुंग जी हियून को 42 मिनट में 21-10, 21-18 से हराया जबकि टूर्नामेंट रजत और कांस्य पदक जीत चुकी सायना ने चौथी वरीयता प्राप्त थाईलैंड की रत्चानोक इंतानोन को 47 मिनट में 21-16, 21-19 से पराजित किया।

प्रणीत ने डेनमार्क के हैंस क्रिस्टियन विटिनगुस को 39 मिनट में 21-13, 21-11 से हराया। लेकिन श्रीकांत को गैर वरीय मलयेशियाई खिलाड़ी डेरेन लियू ने 41 मिनट में 21-18, 21-18 से हरा दिया। सात्विकसेराज रैंकीरेड्डी और अश्विनी पोनप्पा की जोड़ी ने सातवीं सीड मलयेशियाई जोड़ी गोह सून हुआत और शेवोन जेमी लेई को 59 मिनट के संघर्ष में 20-22, 21-14, 21-6 से हराकर मिश्रित युगल के क्वार्टर फाइनल में जगह बना ली।

सायना ने इस जीत से विश्व रैंकिंग में चौथे रैंकिंग की खिलाड़ी इंतानोन के खिलाफ कॅरियर रिकॉर्ड 10-5 कर लिया है। सायना ने थाई खिलाड़ी से अपने पिछले चार मुकाबले लगातार जीत लिए हैं। उन्होंने इस वर्ष इंडोनेशिया मास्टर्स में भी इंतानोन को हराया था। भारतीय खिलाड़ी ने पहले गेम में 8-8 की बराबरी के बाद लगातार अंक बटोरते हुए 20-14 की बढ़त बनाई और 21-16 पर पहला गेम समाप्त कर दिया। दूसरे गेम में सायना एक समय 18-13 से आगे थीं लेकिन इंतानोन ने 19-19 से बराबरी हासिल की। सायना ने फिर दो अंक लेकर 21-19 पर गेम और मैच समाप्त कर लिया।

सायना का क्वार्टर फाइनल में अपनी पुरानी प्रतिद्वंद्वी और सातवीं वरीय स्पेन की कैरोलीना मारिन से मुकाबला होगा। सायना का मारिन के खिलाफ 5-4 का रिकॉर्ड है। दोनों के बीच आखिरी भिड़ंत पिछले साल अक्टूबर में डेनमार्क ओपन में हुई थी जहां सायना ने जीत हासिल की थी। मारिन 2016 रियो ओलंपिक की स्वर्ण विजेता हैं और उन्होंने 2015 विश्व चैंपियनशिप के फाइनल में सायना को पराजित कर स्वर्ण जीता था। हैदराबादी खिलाड़ी के पास उस हार का बदला चुकाने और सेमीफाइनल में पहुंचने का मौका रहेगा।