शत्रुघ्न ने बहुमत नहीं होने पर भी कर्नाटक में भाजपा के सरकार बनाने के निर्णय पर प्रश्न उठाया

भाषा, पटना

भाजपा के भीतर असंतुष्ट माने जाने वाले पार्टी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने अपनी पार्टी पर बहुमत नहीं होने के बावजूद भी कर्नाटक में उसके सरकार बनाने के निर्णय पर प्रश्न उठाते हुए कहा है कि ‘जुगाड़’ और दबाव की राजनीति स्वीकार्य नहीं है।   

शत्रुघ्न ने कर्नाटक? चुनाव के नतीजे आने के बाद ट्वीट के जरिये कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन को कर्नाटक में सरकार बनाने का मौका दिए जाने की वकालत करते हुए केंद्र सरकार पर परोक्ष रूप से निशाना साधा।     

उन्होंने कहा, ‘‘हम आग से क्यों खेल रहे हैं? लोकतंत्र के हिमायती अब व्यवस्था का मजाक उड़ा रहे हैं। जो लोग लोकतंत्र के मूल्य पर उपदेश देते नहीं थकते वे राजतंत्र को बर्बाद करने पर तुले हुए हैं।   

उन्होंने कहा कि ‘जुगाड़’ और दबाव की यह राजनीति, ‘जन-शक्ति‘ पर ‘धन-शक्ति‘ न तो स्वीकार्य है और न ही वांछनीय है।   

शत्रुघ्न ने एक कहावत का हवाला देते हुए कहा कि आप किसी भी तरह जीत हासिल करने के लिए हर समय सभी लोगों को मूर्ख नहीं बना सकते हैं और इसकी सलाह भी नहीं दी जा सकती है।   

उन्होंने कहा कि जो मेघालय, मणिपुर और गोवा के लिए सही माना गया वही कर्नाटक के लिए भी सही माना जाना चाहिए।   

शत्रुघ्न ने कहा कि हम न्यायपालिका के प्रति बहुत अधिक सम्मान रखते हैं। उम्मीद है कि अंतत: न्याय होगा।