विलक्षण प्रतिभा के धनी स्मिथ भुगतते रहे हैं गलतियों का खामियाजा

एएफपी, सिडनी

दुनिया के सर्वश्रेष्ठ टेस्ट बल्लेबाजों में शुमार स्टीव स्मिथ कई बार ऐसी गलतियां कर जाते हैं जो मैदान पर उनके शानदार प्रदर्शन पर भारी पड़ जाती है।          

अति उत्साही इस बल्लेबाज की तुलना अक्सर सर डान ब्रैडमेन से की जाती है। लेकिन दक्षिण अफ्रीका में गेंद से छेड़खानी के आरोपों ने उनकी छवि इतनी खराब कर दी कि उनसे आस्ट्रेलिया की कप्तानी छीन ली गई है।       

निचले क्रम पर बल्लेबाजी करने वाले लेग स्पिनर के रूप में टीम में जगह बनाने वाले स्मिथ ने इंग्लैंड के खिलाफ एशेज श्रृंखला में पर्थ में तीसरे टेस्ट में कैरियर की सर्वश्रेष्ठ239  रन की पारी खेली।

उन्होंने 2017 में 1000 टेस्ट रन भी पूरे किये और लगातार चौथे साल यह कारनामा कर दिखाया।       

टेस्ट बल्लेबाजों की रैकिंग में शीर्ष पर काबिज स्मिथ की बल्लेबाजी पर कप्तानी के दबाव का असर नहीं हुआ है।         

स्मिथ 2015  में माइकल क्लार्क की जगह कप्तान बने जब वह सिर्फ 26 साल के थे।          

भारत दौरे पर भी स्मिथ विवाद में पड़े थे जब बेंगलूर में डीआरएस लेने से पहले उन्होंने अपने खिलाड़ियों की तरफ गैलरी में देखा था। नियमों के तहत डीआरएस लेते समय खिलाड़ी मैदान से बाहर नहीं देख सकता।       

वहीं 2016 में क्राइस्टचर्च टेस्ट में अंपायर के फैसले पर असंतोष जताने पर उन्हें जुर्माना भरना पड़ा था।