विकास योजनाओं के ब्रांड एंबेस्डर हैं ग्राम प्रधान - योगी

वार्ता, वाराणसी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ग्राम प्रधानों को विकास का वास्तविक ब्रांड एंबेस्डर बताते हुए केंद्र एवं राज्य सरकारों की योनाजनाएं एवं विकास कायरें को लागू करवाने में सक्रिय भूमिका निभाने की अपील की।
    
योगी ने आज वाराणसी में मुख्यमंत्री-ग्राम प्रधान संवाद कार्यक्रम में कहा कि कई मामलों में ग्राम प्रधानों के पास विधायक एवं सांसद से भी अधिक अधिकार हैं, जिसका उपयोग बिना भेदभाव के किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि ग्राम प्रधान को अधिकार है कि वह अपने क्षेा के किसी बीमार व्यक्ति की मदद के लिए 5000 रुपये तक की राशि अपने विवेक के आधार पर तत्काल मंजूर कर सकता है। इसी प्रकार के कई अधिकार उन्हें प्राप्त है।
   
उन्होंने कहा कि प्रत्येक 20 हजार की आबादी वाले ग्राम प्रधान के पास साल में दो करोड़ रुपये विकास कायरें पर खर्च के लिए मिलते हैं, जबकि विधायक को मा एक करोड़ 40 लाख रुपये अपने क्षेा के विकास के लिए मिलते हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मंशा के अनुसार गांव की सरकार को हर मामले में अधिकार संपन्न किये गए हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि श्री मोदी के स्वच्छ भारत अभियान वराणसी के ग्राम प्रधानों ने काफी सराहनी कार्य किया है। श्री योगी ने सराहनी कार्य करने वाले ग्राम प्रधानों 4000-4000 रुपये का पुरस्कार देकर सम्मानित किया।
 
योगी ने कहा कि श्री मोदी ने पिछले चार वर्षों के कार्यकाल में बिना कोई रकम जमा कराये 32 करोड़ गरीबों के बैंक खाते खुलवाये गए हैं। इसके माध्यम से उन्हें केंद्रीय योजनाओं का लाभ पहुंचाने का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि अनुसूचित जाति एवं जनजाति वर्ग के लोगों को आसान शर्तो पर एक करोड़ रुपये तक का लोन एवं सभी के लिए मुद्रा योजना के 50 हजार से 10 लाख रुपये का लोन मुहैया कराने के कारण देशभर में बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार मिले हैं।
   
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री आगामी 2022 तक देश के सभी गरीबों को आवास मुहैया कराने की दिशा में तेजी से काम कर रहे हैं। उत्तर प्रदेश में इस मामले में आठ लाख 85 हजार आवास बनाकर अव्वल स्थल पर हैं। उन्होंने कहा कि इसी प्रकार एक वर्ष में 46 लाख घरों में बिजली के नि-शुल्क कनेक्शन दिये गए हैं, जिससे उन्हें काफी लाभ मिल रहा है।
     
उन्होंने कहा प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत देशभर में आठ करोड़ गरीबों को मुफ्त रसोई गैस कनेशन मिलने से उनकी जिंदगी में बड़ा बदलावा आया है। उत्तर प्रदेश में मुफ्त रसोई गैस पाने वालों की संख्या 72 लाख 50 हजार है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना में किसी कारण से छूट गए पा लोगों को आवास पाने का मौका फिर मिलेगा। इसके लिए प्रक्रिया आसान कर दी गई है।
    
उन्होंने दावा कि उनकी सरकार विधवा, दिव्यांग, बेसहारा लोगों की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से हर संभव मदद कर रही है, जिसका दायरे समय-समय पर बढ़ाया जा रहा है।
    
दो दिवसीय वाराणसी दौरे के अंतिम दिन श्री योगी ने लोगों से स्वच्छता अभियान को आगे बढाने में अपनी भूमिका निभाने के साथ आगामी 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योगी दिवस में भाग लेने की अपील की।
     
इससे पहले श्री योगी ने शहर के विशिष्ट जनों प्रो0 सुरेंद्र प्रताप सिंह, प्रो0 चंद्रमौली उपाध्याय, प्रो0 सरोज चूड़ामणि गोपाल सहित अनेक बुद्जीवियों से मुलाकात कर नरेंद्र मोदी सरकार की चार वर्षों की उपलब्धियों से उन्हें अवगत कराया और भाजपा को समर्थन देने अनुरोध किया।