लॉर्ड्स टेस्ट: भारतीय बल्लेबाजों की समस्या मानसिक है, तकनीकी नहीं: कोहली

भाषा, लंदन

भारतीय कप्तान विराट कोहली का मानना है कि उनकी टीम की बल्लेबाजी को लेकर लगातार बढ रही समस्या तकनीकी से अधिक मानसिक है और उन्होंने साथी बल्लेबाजों से अपील की कि इंग्लैंड के खिलाफ मौजूदा टेस्ट श्रृंखला को बचाने के लिए वे चीजों को सामान्य रखें।          

लार्डस में दूसरे टेस्ट में भारत दो पारियों में 107 और 130 रन ही बना पाया जिससे उसे कल यहां दूसरे टेस्ट में पारी और 159 रन से हार का सामना करना पड़ा। भारतीय टीम अब पांच मैचों की श्रृंखला में 0-2 से पिछड़ रही है जबकि तीसरा टेस्ट नाटिंघम में 18 अगस्त से शुरू होगा।          

कोहली ने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘‘मुझे कोई तकनीकी खामी नजर नहीं आती। अगर बल्लेबाज अपनी योजना को लेकर स्पष्ट हैं और उसे कोई तनाव नहीं है तो अगर गेंद पिच से मूव भी करती है तो भी आप इससे निपट सकते हो।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अगर मेरे दिमाग में काफी कुछ चल रहा है तो मुझे लगता है कि अब गेंद ऐसा करेगी या वैसा करेगी या कुछ भी कर सकती है। आपके दिमाग में तीन-चार चीजें चल रही होती हैं। यह पुरानी बातें दोहराने जैसा होगा लेकिन जैसे कि महान खिलाड़ियों ने कहा है, चीजों को सामान्य रखो, आपको यही करना है। आप यहां आकर यह नहीं सोच सकते कि हालात काफी कड़े हैं। अगर आप इनसे निपटने की तैयारी करते हैं तो ये मुश्किल नहीं हैं।’’

मौसम भी भारत के पक्ष में नहीं रहा जिसे उस समय बल्लेबाजी करनी पड़ी जब आसमान में बादल छाए थे जबकि इंग्लैंड ने अपने रन तीसरे दिन उस समय बनाए जब धूप खिली थी।          

कोहली ने कहा, ‘‘काफी लोग हालात की बात कर रहे हैं, हमने मुश्किल समय में बल्लेबाजी की। जिस दिन हालात अच्छे थे उस दिन हमें गेंदबाजी करनी पड़ी। और आज फिर आसमान में बादल छाए थे और हमें बल्लेबाजी करनी पड़ी। अगर हम इन चीजों के बारे में सोचेंगे तो हम भविष्य की योजना नहीं बना सकते।’’          

कोहली ने कहा कि गेंदबाजों ने श्रृंखला के पहले मैच में अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन लार्डस में उनके प्रदर्शन में निरंतरता नहीं थी। उन्होंने कहा, ‘‘आप टास या मौसम पर नियंतण्रनहीं रख सकते। इस मैच में हमने अच्छा क्रिकेट नहीं खेला। हमने शुरुआत में अच्छी गेंदबाजी की लेकिन लगातार अच्छी लाइन और लेंथ के साथ गेंदबाजी नहीं की। हमें मैदान पर काफी मौके नहीं मिले लेकिन बल्ले और गेंद से हमने जो किया उससे बेहतर कर सकते थे।’’          

पीठ की तकलीफ के कारण कोहली ने दूसरी पारी में पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी की। इस स्टार बल्लेबाज को उम्मीद है कि वह अगले मैच के लिए समय से फिट हो जाएंगे।          
उन्होंने कहा, ‘‘पीठ की समस्या परेशान करती है। दक्षिण अफ्रीका के अंतिम चरण में भी ऐसा हुआ था जब मैं टी20 मैच में नहीं खेल पाया था क्योंकि यह काफी जल्दी था। यह मैच से एक दिन पहले हुआ। अच्छी चीज यह है कि अगले टेस्ट से पहले मेरे पास पांच दिन हैं।’’          

भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘हमें यकीन है कि रिहैबिलिटेशन के जरिये मैं अगले मैच के लिए मैं तैयार हो जाऊंगा लेकिन मैदान पर शायद वैसा जज्बा नहीं दिखा सकूं। लेकिन स्थिति ऐसी होनी चाहिए कि मैं मैदान पर क्षेत्ररक्षण कर सकूं और बल्लेबाजी में अपना शत प्रतिशत दे सकूं।’’