लुईस ने सहज होने में मदद की: रोहित

भाषा, मुंबई

मुंबई इंडियन्स के कप्तान रोहित शर्मा ने रायल चैलेंजर्स बेंगलूर के खिलाफ 52 गेंद में 94 रन की पारी खेलने का श्रेय एविन लुईस को देते हुए कहा कि वेस्टइंडीज के इस खिलाड़ी ने उन्हें क्रीज पर पैर जमाने का मौका दिया।          

मुंबई इंडियन्स ने आरसीबी को कल रात यहां 46 रन से हराकर आईपीएल 11 में पहली जीत दर्ज की। रोहित के अलावा लुईस ने भी 65 रन की पारी खेली।           

मुंबई ने पहले बल्लेबाजी करते हुए छह विकेट पर 213 रन बनाए जिसके जवाब में आरसीबी की टीम आठ विकेट पर 167 रन ही बना सकी।          

रोहित ने कहा, ‘जब एविन लुईस बल्लेबाजी कर रहा हो तो कुछ भी हो सकता है, वह काफी अच्छा स्ट्राइकर है और अपने दायरे में आने पर वह गेंद को तेज हिट करता है और उसने यही किया। इससे मुझे पर्याप्त समय मिला गया जो काफी महत्वपूर्ण है। हम हमेशा से चाहते रहे हैं कि एक टिका हुआ बल्लेबाज जितना अधिक संभव हो उतनी देर तक बल्लेबाजी करे और ऐसा करने के लिए मेरे पास बेहतरीन मंच था।’          

मेजबान टीम की शुरुआत काफी खराब रही जब आरसीबी के तेज गेंदबाज उमेश यादव ने मैच की पहली दो गेंदों पर ही मुंबई के सलामी बल्लेबाज सूर्यकुमार यादव और इशान किशन को बोल्ड कर दिया।          

रोहित ने कहा कि पहले तीन मैचों में हार के बावजूद उनकी टीम का रवैया सकारात्मक रहा। उन्होंने अपने गेंदबाजों मिशेल मैकलेनाघन, कृणाल पंड्या और मयंक मार्कंडेय की भी तारीफ की।          

रोहित ने साथ ही कहा कि वह चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करना जारी रखेंगे जिससे कि नये बल्लेबाजों को सहज होने का मौका मिले। इस बीच आरसीबी के मुख्य कोच डेनियल विटोरी को मलाल है कि डीआरएस रिव्यू लेने पर हार्दिक पंड्या को नाट आउट करार दिया गया और इससे उनकी टीम को 20 से 30 रन का नुकसान हुआ।          

विटोरी ने कहा, ‘चीजें हमारे खिलाफ गई। हार्दिक का विकेट, अगर हम उसे आउट कर देते तो संभवत: उनका स्कोर 20 से 30 रन कम रहता। अंतिम स्कोर में यह अंतर पैदा करता है।’ उन्होंने कहा कि उनके स्पिनरों वाशिंगटन सुंदर और युजवेंद्र चहल ने रक्षात्मक गेंदबाजी की जबकि मुंबई टीम के उनके समकक्षों ने आक्रामक रवैया अपनाया।