लालू ने सुशील मोदी को दी शासन की सीख, कहा- ऐसे नहीं, रौब से चलता है शासन

भाषा, पटना

राष्ट्रीय जनता दल के प्रमुख लालू प्रसाद ने उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के अपराधियों से पितृपक्ष के दौरान किसी वारदात को अंजाम न देने के आग्रह पर उनपर और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए मंगलवार कहा कि अपराधियों के आगे मिमियाने और गिड़गिड़ाने से नहीं, शासन रौब से चलता है।     

चारा घोटाला मामले में जेल में बंद लालू ने ट्वीट कर कहा ‘‘हाथ-गोड़ कुछउ जोड़, अपराधियों के चरण धोकर उनका चरणामृत भी पी लो..अरे शर्म करो.. क्रिमिनल्स के आगे मिमियाने और गिड़गिड़ाने से नहीं, शासन रौब से चलता है।’’     

लालू ने उपमुख्यमंत्री और मुख्यमंत्री पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया, ‘‘तोहार लोगन के इकबाल खत्म बा..चोर दरवाज़े से राज-काज में घुसल है ना, सो दुनो में नैतिक बल अउर आत्मविश्वास की कमी रहल।’’     

मीडिया में आयी खबरों के अनुसार सुशील ने गत 23 सितंबर को गया जिला में पितृपक्ष मेला का उदघाटन करते हुए अपराधियों से पितृपक्ष के दौरान किसी वारदात को अंजाम न देने के आग्रह किया था।     
पटना शहर स्थित टूल रूम एंड ट्रेंिनग सेंटर में आज आयोजित एक कार्यक्रम में भाग लेने पहुंचे सुशील से पत्रकारों द्वारा उनके उक्त बयान के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने इसपर कोई टिप्पणी नहीं की और तुरंत वहां से चले गये।     
इससे पूर्व लालू ने राफेल सौदे को लेकर कल ट्वीट के जरिए केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा था ‘‘जहाजवा ही चुरा कर खाने लग गए वो भी लड़ाकू..ऊ भी मिसाइल से लैस। गजबे बा..’’     

लालू ने गत 21 सितंबर को ट्वीट कर कहा था ‘‘मित्रों, राफ़ेल सौदे के घालमेल और तालमेल की सही जानकारी 125 करोड़ देशवासियों को मिलनी चाहिए कि नहीं? मिलनी चाहिए की नहीं? अगर पूँजीपति मिलनसार प्रधानमंत्री गुनाहगार व भागीदार नहीं है और ईमानदार चौकीदार है तो सच बताने में डर काहे का??‘‘