राजस्थान में किसान गांव बंद आंदोलन 5वे दिन भी जारी

वार्ता, जयपुर

 राजस्थान में किसान संगठनों द्वारा गांव बंद आंदोलन आज पांचवे दिन भी जारी रहा। हालांकि मंडियों में सब्जियों की आवक होने से लोगों को कुछ राहत मिली है लेकिन दूध की किल्लत लगातार बढ़ती जा रही है।
       
किसान आंदोलन का सर्वाधिक असर दूध डेयरियों पर पडा है जिसके कारण संकलन नही होने से कई जगह दूध की आपूर्ति प्रभावित हुयी है।
        
राजधानी में जयपुर डेयरी ने गोल्ड दूध की आपूर्ति आज दूसरे दिन भी बंद रखी। दूध की किल्लत को कम करने के लिये डेयरी ने कम फैट वाले टोंड दूध की आपूर्ति बनाये रखी।  कल रात को लगभग पन्द्रह से अधिक स्थानों पर उत्पातियों द्वारा दूध से भरे टैंकरो को रोक देने के कारण डेयरी प्रबंधन के पास दूध नहीं पहुंचा।
     
जयपुर में प्रतिदन लगभग साढे नौ लाख लीटर दूध की मांग की बजाय आज मात्र आठ लाख लीटर दूध की आपूर्ति की गयी। डेयरी की बीएमसी से दूध का संकलन लगभग बंद हो गया है।
       
राजधानी जयपुर की मुहाना मंडी में कल दोपहर बाद से कुछ सब्जियां आने से लोगों ने राहत की सांस ली है। जिले की चौमू मंडी बंद होने से वहां की सब्जियां प्रमुख मुहाना मंडी में आने से सब्जियों के दाम में कुछ कमी आने से उपभोक्ताओं ने राहत की सांस ली है। मंडियों में टमाटर, लॉकी, करेला , हरी मिर्च, आदि कुछ सब्जियां पहुची है।
       
प्रदेश के बीकानेर, गंगानगर, चुरू, सादुलपुर सहित कुछ स्थानों पर किसानों द्वारा सब्जियों को फैंकने के समाचार भी मिले है।