यौन उत्पीडन के आरोपी आसाराम की सजा जेल में ही सुनाये जाने की याचिका पर सुनवाई पूरी

वार्ता, जयपुर

राजस्थान उच्च न्यायालय ने यौन उत्पीडन के आरोपी आसाराम की सजा जेल में ही सुनाने की याचिका पर फैसला आज सुरक्षित कर लिया।
       
न्यायाधीश गोपाल कृष्ण व्यास की खंडपीठ में सुनवाई के दौरान पुलिस प्रशासन की ओर से कानून एवं व्यवस्था बनाये रखने, और पंचकुला जैसी घटनाओं की पुनरावृति रोकने संबंधी दलील देते हुये इस प्रकरण का फैसला जेल में अदालत लगाकर करने की दलील दी गयी। पुलिस प्रशासन की ओर से यह भी दलील दी गयी कि आसाराम के समर्थक काफी संख्या में है जो पेशी के दौरान भी काफी संख्या में मौजूद रहते है।       
         
वही आसाराम के अधिवक्ताओं ने कानूनी पेचिदगियों का हवाला देते हुये फैसले को न्यायालय में ही सुनाए जाने की दलील दी। खंडपीठ ने दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद फैसला सुरक्षित कर लिया।
         
उल्लेखनीय है कि यौन उत्पीडन के मामले में आसाराम जोधपुर के केंद्रीय कारागार में बंद है और न्यायालय की ओर से आगामी 25 अप्रेल को अंतिम फैसला सुनाया जाना है।