यशवंत का सपूत निकला कपूत : अजीत जोगी

आईएएनएस/वीएनएस, रायपुर

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री व जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के संस्थापक अजीत जोगी ने पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा के पुत्र एवं केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा द्वारा झारखंड में 'मॉब लिंचिंग' के आरोपियों को अपने घर बुलाकर स्वागत सत्कार करने को गैरवाजिब एवं अमर्यादित कृत्य निरूपित किया है।

जोगी ने कहा कि जयंत सिन्हा ने हत्या के आरोपियों का स्वागत कर केंद्रीय मंत्री पद की गरिमा को कलंकित किया है। उन्हें इस शर्मनाक कृत्य के लिए देशवासियों से क्षमा मांगनी चाहिए तथा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चाहिए कि वे इस विषय पर अपनी जुबान खोलें।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा के जनप्रतिनिधियों के स्तरहीन एवं अमर्यादित बयानों पर भाजपा की चुप्पी मौन स्वीकृति को दर्शाती है जो देश की एकता एवं सौहार्द के लिए खतरा बनती जा रही है।

उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा कि अभी तक भाजपाइयों के केवल अमर्यादित एवं असंसदीय कथन सुनने और पढ़ने को मिलते थे, लेकिन अब तो हद हो गई कि भाजपा के केंद्रीय मंत्री द्वारा हत्या के आरोपियों का खुलेआम स्वागत कर अमर्यादित घटना को महिमामंडित किए जाने के समान है जो जिम्मेदार भाजपाइयों की निम्न सोच एवं स्तरहीन हरकतों से सेक्युलर देशवासी परेशान एवं दुखी हैं।

जोगी ने कहा कि केंद्रीय मंत्री के पिता यशवंत सिन्हा द्वारा अपने पुत्र को 'नालायक' कहना उनकी व्यथा को दर्शाता है। यशवंत अपने बयानों से सिद्ध कर चुके हैं कि जयंत सिन्हा उनके सपूत नहीं, 'कपूत' हैं।