मोदी की अदाएं और वाकपटुता से भूख एवं गरीबी नहीं मिट सकती: गहलोत

वार्ता, उदयपुर

कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव अशोक गहलोत ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अदाएं एवं वाकपटुता देश की जनता की भूख एवं गरीबी नहीं मिटा सकती हैं।

गहलोत ने आज यहां पाकारों को बताया कि  मोदी एक फिल्म अभिनेता की तरह डायलॉग कहते हैं और उनका असली रुप तो कुछ और ही होता हैं। इस प्रकार की वाकपटुता से देश का विकास नहीं हो सकता हैं। उन्होंने कहा कि मोदी ने चुनावों से पहले विदेशों से कालाधन वापस लाने, प्रत्येक परिवार को पन्द्रह-पन्द्रह लाख रुपये देने जैसे लोक लुभावने वायदे किये थे।
           
राम मंदिर निर्माण के लिए पुछे गये प्रश्न के जवाब में गहलोत ने कहा कि राम मंदिर देश के लिए आस्था की बात है लेकिन भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के लिए राजनीति की बात हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा एवं राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) में अधिकांश ऐसे लोग है जिनका भगवान राम से कोई वास्ता नहीं है। वास्तव में वे राम को नहीं मानते हैं।
       
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी विश्वनेता बनने जा रहे हैं, उनके सबसे विश्वासपात्र भाजपा अध्यक्ष अमित शाह हैं। वर्तमान में केवल दो ही लोग देश को चला रहे हैं प्रधानमंत्री मोदी एवं भाजपा अध्यक्ष अमित शाह। देश के अधिकांश लोगों को दूसरे मंत्रियों के नाम तक मालुम नहीं हैं। उन्होंने कहा कि विभागों के सचिव अपने मंत्री की बात नहीं मानते बल्कि अमितशाह की बात मानने के लिए विवश हैं।
       
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के संसद में प्रधानमंत्री मोदी से गले मिलने पर पुछे गये सवाल पर गहलोत ने कहा कि गांधी के विचार एवं दिल बहुत साफ हैं। वह  मोदी को गले लगाकर यह संदेश देना चाहते है कि उनका (श्री गांधी) जिसका दिल साफ हो उनको कभी क्रोध नहीं आता हैं।
       
उन्होंने कहा कि मोदी द्वारा बार बार यह कहना कि कांग्रेस ने साठ वर्ष में कुछ नहीं किया और भाजपा सरकार ने गत चार वर्ष में 18 हजार गांवों में बिजली पहुंचाई हैं।

गहलोत ने कहा कि इस देश में लगभग छह लाख गांव है जिसमें से 18 हजार गांवों चार वर्ष में विद्युतिकरण किया तो शेष पांच लाख 82 हजार गांवों को विद्युतिकरण किसने किया। वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में सम्पूर्ण विपक्ष को साथ लेने के सबंध में पुछे गये सवाल के जवाब में गहलोत ने कहा कि संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) की अध्यक्षा सोनिया गांधी इस काम को देख रही हैं। यह प्रयास किया जायेगा कि हर हालात में मोदी की सरकार फिर से सत्ता में नहीं आ सके इसके लिए जो भी सभंव होगा किया जायेगा।