मुजफ्फरपुर-देवरिया कांड के बाद सक्रिय DCW, शेल्टर होम्स की जांच के लिए बनायी समिति

एजेंसी , नई दिल्ली

मुजफ्फरपुर और देवरिया की घटनाओं को देखते हुए दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) ने दिल्ली में महिलाओं और बच्चियों के शेल्टर होम की विस्तृत रूप से जांच करने के लिए एक विशेषज्ञ समिति का गठन किया है। इस समिति में विद्वान, वकील, मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ और सामाजिक कार्यकर्ताओं को शामिल किया गया है। यह समिति तीन महीने में अपनी रिपोर्ट आयोग को सौपेंगी।

आयोग के अनुसार इस समिति के पास सरकार और प्राइवेट संस्थाओं द्वारा संचालित महिलाओं और बच्चियों के शेल्टर होम की स्थिति की जांच करने का अधिकार होगा। यह विशेषज्ञ समिति इन शेल्टर होम में महिलाओं और लड़कियों की स्थिति, सुरक्षा, सुविधाओं और इनके पुनर्वास के लिए शेल्टर होम द्वारा किए गए कार्यों का जायजा लेगी और एक विस्तृत रिपोर्ट सौंपेगी।

यह समिति शेल्टर होम का औचक दौरा करेगी और शेल्टर होम में रहने वाली महिलाओं और लड़कियों से समिति के अधिकारी विस्तार से बातचीत करेंगे और इनकी समस्याओं को समझने की कोशिश करेंगे। यह समिति 3 महीनों में अपनी रिपोर्ट सौंपेगी।

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा कि आयोग ने स्वयं दिल्ली सरकार द्वारा संचालित कई शेल्टर होम का दौरा किया है। आयोग ने शिकायतों पर प्राइवेट संस्थाओं द्वारा संचालय कई शेल्टर होम का भी दौरा किया है। यह समिति इन शेल्टर होम की एक व्यापक जांच करेगी। मुजफ्फरपुर और देवरिया की घटनाओं ने पूरे देश को झकझोर दिया है। यह समय की मांग है कि देश में संचालित सभी महिलाओं और बच्चियों के शेल्टर होम की व्यापक जांच की जाए।