मुक्केबाजी : साक्षी को युवा विश्व चैम्पियनशिप में स्वर्ण

आईएएनएस, नई दिल्ली

भारत की साक्षी ने बुडापेस्ट में खेले गए एआईबीए युवा विश्व मुक्केबाजी चैम्पियनशिप की महिलाओं की 57 किलोग्राम भारवर्ग स्पर्धा में क्रोएशिया की निकोलिना कासिक को मात देकर स्वर्ण पदक अपने नाम किया।

साक्षी के अलावा अनामिका (51 किलोग्राम भारवर्ग) और मनीषा (64 किलोग्राम भारवर्ग) को फाइनल में हार के साथ रजत पदक से संतोष करना पड़ा है।

भारत के महिला एवं पुरुष मुक्केबाजों का यहां प्रदर्शन शानदार रहा। भारतीय युवा मुक्केबाजों ने यहां दो स्वर्ण, दो रजत और छह कांस्य पदक अपने नाम किए हैं। दो पदक पुरुषों ने जीते। महिलाओं में भारत का प्रदर्शन रूस से भी अच्छा रहा। भारतीय महिलाओं ने कुल 26 अंक एकत्रित किए तो वहीं रूस ने 23 अंक अर्जित किए।

साक्षी शुरुआत से ही आक्रामक थीं। उनके पंचों का निकोलिना के पास कोई जवाब नहीं था। साक्षी इतनी आक्रामक थीं कि रेफरी को बीच में दखल दे मुकाबले को रोकना पड़ा और तकनीकी आधार पर साक्षी को विजेता घोषित किया गया।

अनामिका को अमेरिका डेस्टीनी गार्सिया ने मात दी। भारतीय मुक्केबाज ने शुरुआत तो अच्छी की थी, लेकिन अमेरिकी खिलाड़ी ने शानदार वापसी करते हुए 4-1 से मुकाबला अपने नाम किया। फाइनल में मनीषा का सामना गेमा पेग रिचडर्सन से था जिन्होंने भारतीय मुक्केबाज को 5-0 से शिकस्त दी। भारतीय महिला मुक्केबाजों ने इस स्पर्धा में 10 में से आठ पदक जीते हैं।