महिला एशिया कप : भारत 7वीं बार फाइनल में, बांग्लादेश से भिड़ेगा

भाषा/आईएएनएस, कुआलालम्पुर

भारत ने दबदबा बनाते हुए आज यहां अपने अंतिम राउंड रोबिन मुकाबले में चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को सात विकेट से शिकस्त देकर महिला एशिया कप ट्वेंटी20 टूर्नामेंट के फाइनल में प्रवेश किया।          

टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला करने वाली पाकिस्तानी टीम किनरारा अकादमी ओवल में निर्धारित 20 ओवर में सात विकेट गंवाकर महज 72 रन ही बना सकी।          

भारत के लिये बायें हाथ की स्पिनर एकता बिष्ट सबसे सफल गेंदबाज रहीं जिन्होंने अपने चार ओवर के स्पैल में 14 रन देकर तीन विकेट हासिल किये। अन्य गेंदबाजों को एक एक विकेट मिला, हालांकि हैरानी की बात यह रही कि तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी को एक भी विकेट नहीं मिला।  एकता ‘प्लेयर आफ द मैच’ रहीं।          

इस छोटे लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारत ने 23 गेंद रहते इसे हासिल कर लिया। सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना 40 गेंद में 38 रन बनाकर शीर्ष स्कोरर रहीं जबकि कप्तान हरमनप्रीत कौर ने 49 गेंद में 34 रन बनाये।     

अनुभवी मिताली राज और दीप्ति शर्मा खाता नहीं खोल सकीं लेकिन उनके आउट होने से भारत की जीत में कोई बाधा नहीं पड़ी।          

भारत की शुरूआत हालांकि अच्छी नहीं रही। तीसरे ओवर में पांच रन ही जुड़ सके थे कि मिताली के बाद दीप्ति भी पवेलियन पहुंच गयीं। लेकिन लक्ष्य इतना कम था कि उन पर दबाव नहीं आया।  मंधाना और हरमनप्रीत ने इसके बाद तीसरे विकेट के लिये 65 रन की भागीदारी निभायी। जीत के लिये तब तीन रन की दरकार थी, तब मंधाना आउट हो गयी।           

इससे पहले पाकिस्तानी टीम ने लगातार अंतराल पर विकेट गंवा दिये और टीम 72 रन ही बना सकी।           

सना मीर 20 रन बनाकर शीर्ष स्कोरर रहीं, लेकिन उन्होंने इसके लिये 38 गेंद का सामना किया। सलामी बल्लेबाज नाहिदा खान (18) ही पाकिस्तानी बल्लेबाज रहीं जो दोहरे अंक तक पहुंच सकीं।  यह भारत की पांच मैचों में चौथी जीत थी, उन्हें बांग्लादेश से उलटफेर का सामना करना पड़ा था। लेकिन इस हार क बाद भारत ने वापसी कर श्रीलंका और पाकिस्तान को पस्त किया। 

फाइनल में भारत का सामना बांग्लादेश के से होगा, जिसने शनिवार को ही एक अन्य मैच में मेजबान मलेशिया को 70 रनों के विशाल अंतर से मात देकर फाइनल का टिकट कटाया है। बांग्लादेश ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवरों में चार विकेट के नुकसान पर 130 रन बनाए थे।

जबाव में मलेशिया की टीम पूरे ओवर खेलने के बाद नौ विकेट खोकर 60 रन ही बना सकी।