ममता ने प्रधान न्यायाधीश नियुक्त होने पर रंजन गोगोई को बधाई दी

भाषा, कोलकाता

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भारत के अगले प्रधान न्यायाधीश के तौर पर नियुक्ति के लिए न्यायमूर्ति रंजन गोगोई को शुक्रवार को बधाई दी।      बनर्जी ने ट्वीट किया है, मैं पूरी विनम्रता से न्यायमूर्ति रंजन गोगोई को भारत का 46वां प्रधान न्यायाधीश नियुक्त होने पर बधाई देती हूं। वह तीन अक्तूबर से पदभार संभालेंगे। हमें आप पर गर्व है।     

न्यायमूर्ति गोगोई को कल प्रधान न्यायाधीश नियुक्त किया गया। वर्तमान प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा के सेवानिवृत्त होने के बाद न्यायमूर्ति गोगोई तीन अक्तूबर से पदभार संभालेंगे।     

न्यायमूर्ति गोगोई का कार्यकाल करीब 13 महीने का होगा, वह 17 नवंबर, 2019 को सेवानिवृत्त होंगे।     

18 नवंबर, 1954 को जन्मे न्यायमूर्ति गोगोई ने 1978 में बतौर वकील अपना पंजीकरण कराया था। गुवाहाटी उच्च न्यायालय में उन्होंने संवैधानिक, कर और कंपनी मामलों पर वकालत की।      उन्हें 12 फरवरी, 2011 को पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया गया। 23 अप्रैल, 2012 को उन्हें पदोन्न्त कर उच्चतम न्यायालय का न्यायाधीश बना दिया गया।     

न्यायमूर्ति मिश्रा ने इस महीने के आरंभ में अपने उत्तराधिकारी के रूप में न्यायमूर्ति गोगोई के नाम की सिफारिश की थी। न्यायमूर्ति मिश्रा ने तय परंपरा के तहत उच्चतम न्यायालय के वरिष्ठतम न्यायाधीश के नाम की सिफारिश प्रधान न्यायाधीश के पद के लिए की।