भिलाई स्टील प्लांट हादसा: स्थिति का जायजा लेने भिलाई पहुंचे इस्पात मंत्री, केंद्र ने भेजी AIIMS से डॉक्टरों की टीम

भाषा, नई दिल्ली

केंद्रीय इस्पात मंत्री चौधरी बीरेंद्र सिंह भिलाई इस्पात संयंत्र में हादसे के बाद स्थिति का जायजा लेने के लिए बुधवार को छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले पहुंचे। मंत्री ने पीड़ितों और उनके परिवारों को हर संभव मदद देने का वादा किया है।

केंद्रीय मंत्री ने ट्वीट में कहा, 'मंगलवार को हुए कोक ब्लास्ट के बाद स्थिति का जायजा लेने के लिए भिलाई पहुंच गए हैं। हम भरोसा दिलाते हैं कि मृतकों के परिवार वालों की हर संभव मदद की जाएगी और घायलों का सवरेत्तम इलाज मुहैया कराया जाएगा।'

मंगलवार को सेल के भिलाई संयंत्र में विस्फोट हो गया था। विस्फोट में 9 लोगों की मौत हो गयी और 14 घायल हो गए हैं।

इस्पात मंत्रालय ने बयान में कहा कि उसने स्वास्थ्य मंत्रालय और एम्स के चार डॉक्टरों से संपर्क किया है और उन्हें घायलों के लिए इलाज के लिए भिलाई भेजा है। एम्स के चिकित्सकों की सलाह पर घायलों का चिकित्सा सुविधा मुहैया कराई जा रही है।

मंत्रालय ने कहा कि घायलों में से तीन की हालत गंभीर बनी हुई है। एक व्यक्ति पर निगाह रखी जा रही है और अन्य को विभिन्न चरणों में उपचार जारी है।

मंत्रालय ने घटना की आतंरिक और बाह्य जांच का आदेश दिया है और अधिकारी भी स्थिति का जायजा लेने के लिए भिलाई पहुंच रहे हैं।

इस्पात राज्यमंत्री विष्णुदेव साई, इस्पात सचिव बिनय कुमार और सेल के चेयरमैन अनिल कुमार चौधरी मंगलवार शाम भिलाई पहुंचे और घायलों का हालचाल लेने के लिए अस्पताल गए।