भिलाई इस्पात संयंत्र में विस्फोट, 13 मरे

सहारा न्यूज ब्यूरो, भिलाई

छत्तीसगढ़ के भिलाई स्टील प्लांट में मंगलवार को गैस पाइप लाइन में विस्फोट होने से 13 कार्मिंकों की मौत हो गई और सात गंभीर रूप से झुलस गए। उन्हें अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है।
अपुष्ट जानकारी के अनुसार, कोक ओवन बैटरी नंबर -11 के सीडीसीपी में गैस पाइप लाइप में सुबह विस्फोट की आवाज सुनी गई। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, कोई कुछ समझ पाता कि इससे पहले ही पूरा ब्लाक लपटों से घिर गया और गैस रिसने लगी। आग की बड़ी-बड़ी लपटों की चपेट में आकर एक दर्जन से ज्यादा बीएसपी कर्मचारी झुलस गए। दो कर्मिंयों की मौके पर ही मौत हो गई। घटना की सूचना फैलते ही प्लांट में हड़कंप मच गया। मेन मेडिकल पोस्ट से एंबुलेंस रवाना की गई और घायलों को अस्पताल ले जाया गया। कई लोग बुरी तरह झुलसे हुए थे। बताया जा रहा है कि शव इतनी बुरी तरह झुलसे हैं कि शिनाख्त नहीं हो पा रही। हताहतों में स्थायी व ठेका कर्मी शामिल हैं।
पुलिस महानिरीक्षक जीपी सिंह ने बताया कि संयंत्र के कोक ओवन के करीब 25 से अधिक कर्मचारी काम कर रहे थे। उसी वक्त सुबह करीब 11 बजे अचानक पाइप लाइन में विस्फोट हो गया। अभी तक छह लोगों के मारे जाने की सूचना है। बचाव दल के कर्मी मौके पर मौजूद हैं। हालात पर काबू पाने की कोशिश की जा रही है। मौके पर कुछ देर बाद नेताओं का भी तांता लग गया।
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने हादसे पर गहरा दु:ख व्यक्त करते हुए शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना प्रकट की और घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना की। मुख्यमंत्री ने भिलाई इस्पात संयंत्र सहित राज्य के सार्वजनिक और निजी क्षेत्र के सभी उद्योगों में मानव जीवन की सुरक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता देने के निर्देश दिए। उन्होंने अधिकारियों को इसके लिए हमेशा सतर्क रहने की हिदायत भी दी।