भारत सडन डैथ में मलयेशिया से हारा

भाषा, जकार्ता

पिछली चैंपियन भारत को मलयेशियाई टीम ने पेनल्टी सडन डैथ में हराकर एशियन गेम्स में स्वर्ण पदक की दौड़ से बाहर कर दिया। जिससे भारत ने टोक्यो ओलंपिक 2020 में सीधे प्रवेश का मौका भी गंवा दिया। मलयेशियाई टीम ने सडन डैथ में भारत को 7-6 से हराया। अब भारतीय टीम कांस्य पदक के लिए पाकिस्तान से खेलेगी जिसे जापान ने दूसरे सेमीफाइनल में 1-0 से हराया।
मलयेशिया ने आठ साल पहले ग्वांग्झू में भारत को सेमीफाइनल में हराया था। भारतीयों ने निर्धारित समय और शूटऑफ में कई मौके गंवाए। दोनों टीमें 60 मिनट के बाद 2-2 से बराबरी पर थी। भारत ने आखिरी क्षणों में गोल गंवाया जिससे मैच शूटऑफ तक ¨खचा। हरमनप्रीत सिंह और वरुण कुमार ने क्रमश: 33वें और 40वें मिनट में गोल दागा। मलयेशिया के लिए फैजल सारी (39वां मिनट) और मोहम्मद रजी ने हूटर से दो मिनट पहले गोल किया। शूट ऑफ में मलयेशिया ने बेहतर प्रदर्शन करते हुए दूसरी बार फाइनल में प्रवेश किया।
भारत ने ग्रुप चरण में 76 गोल किए लेकिन सडन डैथ में एसवी सुनील मौका चूक गए। आकाशदीप सिंह और हरमनप्रीत सिंह पहले पांच शाट में गोल कर सके जबकि मनप्रीत, दिलप्रीत सिंह और सुनील चूक गए। गोलकीपर पीआर श्रीजेश ने मोहम्मद अशारी और फितरी सारी को ही गोल करने दिए जिससे भारत मैच में बरकरार रहा। तेंगकल अहमद,फैजल सारी और मोहम्मद अजुआन मलयेशिया के लिए गोल नहीं कर सके। सडन डैथ में मलयेशिया के पांचों प्रयास सफल रहे जबकि भारत ने पहले चार पर गोल किए लेकिन सुनील चूक गए ।
इससे पहले भारत ने पहले ही मिनट से आक्रामक खेल दिखाते हुए पेनल्टी कार्नर बनाया। हरमनप्रीत की ड्रैग फ्लिक को मलयेशियाई गोलकीपर कुमार सुब्रहमण्यम ने बचाया।