बर्मिघम टेस्ट: जीत से 84 रन दूर भारत, कोहली-कार्तिक से बंधी उम्मीदें

आईएएनएस, बर्मिघम

इंग्लैंड के खिलाफ यहां एजबेस्टन क्रिकेट ग्राउंड पर खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच में भारत की जीत का दारोमदार एक बार फिर कप्तान विराट कोहली और दिनेश कार्तिक के कंधों पर आन पड़ा है। इंग्लैंड द्वारा दिए गए 194 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम ने अपनी दूसरी पारी में एक समय अपने पांच विकेट 78 रनों पर ही खो दिए थे, लेकिन कप्तान कोहली ने एक छोर संभाले रखा और तीसरे दिन शुक्रवार का खेल खत्म होने तक धीरे-धीरे रनों के अंतर को पाट अपनी टीम को मैच में बनाए रखा। भारत ने दिन का अंत पांच विकेट के नुकसान पर 110 रनों के साथ किया।

दिन का खेल खत्म होने तक कप्तान के साथ कार्तिक 18 रन बनाकर डटे हुए हैं। भारत अभी भी जीत से 84 रन दूर है। मैच में हालांकि इंग्लैंड की जीत की संभावनाओं को नकारा नहीं जा सकता। एजबेस्टन के हालात के मद्देनजर मैच उस पड़ाव पर है कि जीत किसी भी टीम के हिस्से आ सकती है।

पहली पारी में 149 रनों की संकटमोचन पारी खेलने वाले कोहली ने दूसरी पारी में भी मेजबान गेंदबाजों की स्विंग का अच्छे से सामना किया और अपने पैर विकेट पर जमाए रखे। दिन का खेल खत्म होने तक कोहली ने 76 गेंदों का सामना कर सिर्फ तीन चौक लगाए हैं।

इंग्लैंड ने अपनी पहली पारी में 287 रन बनाए थे और भारत को पहली पारी में 274 रनों पर ही रोक दिया था। इस लिहाज से वो दूसरी पारी में 13 रनों की बढ़त के साथ उतरी थी।

मैच का तीसरा दिन पूरी तरह से गेंदबाजों के नाम रहा। इस दिन कुल 14 विकेट गिरे। इंग्लैंड ने दिन की शुरुआत एक विकेट के नुकसान पर नौ रनों के साथ की और दिन के दूसरे सत्र में भारत ने उसे 180 रनों पर समेट दिया। भारत के लिए ईशांत शर्मा ने पांच विकेट लिए। रविचंद्रन अश्विन को तीन और उमेश यादव को दो सफलताएं मिली।

भारत के पास लक्ष्य हासिल करने के लिए पर्याप्त समय था, लेकिन इंग्लैंड के गेंदबाजों ने मेहमान टीम के बल्लेबाजों का विकेट पर पैर जमाना मुश्किल कर दिया। स्टुअर्ट ब्रॉड ने 22 के कुल स्कोर तक मुरली विजय (6) और शिखर धवन (13) को पवेलियन भेज दिया। लोकेश राहुल (13) को बेन स्टोक्स ने 46 के कुल स्कोर अपना शिकार बनाया।

अजिंक्य रहाणे (2) को सैम कुरैन ने टिकने नहीं दिया और फिर जेम्स एंडरसन ने प्रमोट होकर छठे नंबर पर आए रविचंद्रन अश्विन (13) को आउट कर दूसरी पारी में अपना खाता खोला। अश्विन के रूप में भारत ने अपना पांचवां और तीसरे दिन का आखिरी विकेट खोया।

यहां से कार्तिक ने कप्तान का बखूबी साथ दिया और टीम को स्टम्प्स होने तक और कोई झटका नहीं लगने दिया। दोनों के बीच अभी तक छठे विकेट के लिए 32 रनों की साझेदारी हो चुकी है।

इससे पहले, अश्विन और ईशांत ने दूसरे दिन के अपने स्कोर से आगे खेलने उतरी इंग्लैंड के आठ विकेट 138 रनों पर ही चटका दिए थे। अश्विन ने केटन जेनिंग्स (8) और कप्तान जोए रूट (14) के विकेट लिए।

ईशांत ने डेविड मलान (20), जॉनी बेयर्सटो (28) और बेन स्टोक्स को 16 रनों के भीतर आउट कर इंग्लैंड को बैकफुट पर धकेल दिया। दिन के दूसरे सत्र में आते ही ईशांत ने जोस बटलर (1) को आउट किया। आदिल राशिद (16) को 138 के कुल योग पर आउट कर उमेश यादव ने अपना खाता खोला।

अंत में जब लगा कि इंग्लैंड जल्दी सिमट जाएगी तब सैम कुरैन ने तेजी से 65 गेंदों में नौ चौके और दो छक्कों की मदद से 63 रनों की पारी खेल इंग्लैंड को 180 के स्कोर पर पहुंचाया। उमेश ने कुरैन को आउट कर इंग्लैंड की पारी समाप्त की।