बर्मिघम टेस्ट : अश्विन ने आखिरी सत्र में कराई भारत की वापसी

आईएएनएस, बर्मिघम

ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन की अगुआई में भारतीय गेंदबाजों ने यहां एजबेस्टन क्रिकेट ग्राउंड पर खेले जा रहे पांच मैचों की टेस्ट सीरीज के पहले मैच के पहले दिन बुधवार को दिन के आखिरी सत्र में शानदार प्रदर्शन करते हुए मेजबान इंग्लैंड को बैकफुट पर धकेल दिया।


इंग्लैंड ने पहले दिन का खेल खत्म होने तक नौ विकेट के नुकसान पर 285 रन बना लिए हैं। स्टम्प्स तक जेम्स एंडरसन (0) और सैम कुरैन 24 रन बनाकर खड़े हुए हैं।

दिन के पहले सत्र में एक और दूसरे सत्र में दो विकेट लेने वाले भारतीय गेंदबाजों ने आखिरी सत्र में इंग्लैंड के छह बल्लेबाजों को आउट किया जिसमें सबसे अहम विकेट इंग्लैंड के कप्तान जोए रूट (80) का साबित हुआ। उन्हें भारतीय कप्तान विराट कोहली ने सीधे विकेटों पर थ्रो मार रन आउट किया।

रूट के जाने के बाद इंग्लिश बल्लेबाज विकेट पर पैर नहीं जमा सके। आदिल राशिद (13) और कुरैन ने भारतीय गेंदबाजों को परेशान करने की कोशिश की, लेकिन यह जोड़ी ज्यादा देर तक टिक नहीं सकी। इंग्लैंड पहले दिन ही ऑल आउट हो गई होती, लेकिन मोहम्मद शमी की गेंद पर दिन के आखिरी ओवर में दिनेश कार्तिक ने एंडरसन का कैच छोड़ दिया।

भारत की तरफ से रविचंद्रन अश्विन अभी तक चार विकेट ले चुके हैं। अश्विन ने ही पहले सत्र में एलिस्टर कुक (13) को 26 के कुल स्कोर पर बोल्ड कर भारत को पहली सफलता दिलाई थी।

आखिरी सत्र में पहला विकेट रूट का गिरा। वह 216 के कुल स्कोर पर आउट हुए। 156 गेंदों में नौ चौकों की मदद से अर्धशतकीय पारी खेलने वाले रूट, जॉनी बेयर्सटो (70) के साथ गैरजरूरी दूसरा रन लेने की जल्द बाजी में अपना विकेट खो बैठे। रूट और बेयर्सटो के बीच चौथे विकेट के लिए 104 रनों की साझेदारी हुई।

रूट के जाने के सात रन बाद बाद उमेश यादव ने बेयर्सटो को बोल्ड कर इंग्लैंड को पांचवां झटका दिया। बेयर्सटो ने 88 गेंदों की अपनी पारी में नौ चौके लगाए। अश्विन ने जोस बटलर को खाता भी नहीं खोलने दिया।

बेन स्टोक्स को भी अश्विन ने अपनी ही गेंद पर लपक मेजबान टीम का सातवां विकेट गिरा दिया। स्टोक्स ने 41 गेंदों पर दो चौकों के साथ 21 रन बनाए। स्टोक्स का विकेट 243 के कुल योग पर गिरा।

यहां से कुरैन और आदिल राशिद ने कुछ जुझारूपन दिखाया और आठवें विकेट के लिए 35 रन जोड़े। इस साझेदारी को ईशांत शर्मा ने तोड़ा। ईशांत ने राशिद को पगबाधा आउट कर अपना पहला विकेट लिया।

अश्विन ने स्टुअर्ट ब्रॉड (1) को 283 के कुल स्कोर पर पवेलियन भेज इंग्लैंड को नौवां झटका दिया।

इससे पहले, भारत ने पहले सत्र में 83 रन खर्च कर एक विकेट लिया था। पहले सत्र में भारतीय गेंदबाजों का मजबूती से सामना करने वाले सलामी बल्लेबाज केटन जेनिंग्स (42) दूसरे सत्र में दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से शमी की गेंद पर बोल्ड हो गए। 98 के कुल स्कोर पर शमी की गेंद जेनिंग्स के बल्ले से टकरा उनके पैर पर लगी और फिर स्टम्प से जा टकराई। उन्होंने अपनी पारी में 98 गेंदों का सामना करते हुए चार चौके लगाए।

शमी ने डेविड मलान (8) को टिकने नहीं दिया। मलान 112 के कुल स्कोर पर शमी की गेंद पर पगबाधा करार दे दिए गए। यहां से बेयर्सटो ने रूट के साथ पारी को आगे बढ़ाया। इस बीच इंग्लिश कप्तान ने अपना अर्धशतक पूरा किया। दोनों ने चायकाल तक इंग्लैंड को चौथा झटका नहीं लगने दिया था।

भारत के अश्विन के अलावा शमी ने दो विकेट लिए। उमेश और ईशांत को एक-एक सफलता मिली।