फीफा वर्ल्ड कप में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे दो बच्चे

एजेंसी, नई दिल्ली

भारत दुनिया के सबसे बड़े खेल आयोजन फीफा विश्व कप में खेलने का अभी सपना ही देख रहा है जबकि देश के दो बच्चों का विश्व कप में भारत का प्रतिनिधित्व करने का सपना पूरा होने जा रहा है। भारत के दो बच्चे कर्नाटक के दस  साल के रिषि तेज और तमिलनाडु की 11 वर्षीय नथानिया जॉन के विश्व कप में देश का प्रतिनिधित्व करेंगे। ये बच्चे दो मैचों में आधिकारिक मैच बॉल कैरियर के रूप में मैदान में उतरेंगे।

इनमें से एक बच्चा ब्राजील और कोस्टा रिका के मैच में जबकि एक बेल्जियम तथा पनामा के मैच में टीम के खिलाड़ियों के साथ बॉल लेकर मैदान में प्रवेश करेगा। बेल्जियम मैच 18 जून को और ब्राजील मैच 22 जून को खेला जाएगा।

इन दो बच्चों को विश्वकप में अपने जीवन का सबसे बड़ा सपना पूरा करने का अवसर दिया है फीफा के आधिकारिक ऑटोमोटिव पार्टनर किया मोटर्स ने जिसने 10 से 14 साल के बच्चों के बीच यह अभियान चलाया है। कुल 1500 बच्चों ने इस अभियान में हिस्सा लिया जिनमें से 50 फाइनल राउंड में उतरे और इन 50 में से रिषि तेका और नथानिया जॉन का चयन किया गया।

इस चयन प्रक्रिया पर खुद भारतीय फुटबॉल कप्तान सुनील छेत्री ने निगरानी रखी और बच्चों को चुनने में महत्वपूर्ण योगदान दिया। इनके अलावा चार और बच्चों को स्थानापन्न के रूप में चुना गया है जो विश्वकप का मैच देखने के लिये रूस की यात्रा करेंगे। इन चार में नोएडा के भनुज भलावस, नोएडा के ही प्रियदर्शन प्रकाश, गुडग़ांव के आदित्य बत्रा और मुंबई के स्कॉट एश्ले राड्रिग्का शामिल हैं।

उद्घाटन समारोह में प्रस्तुति देंगे राबी विलियम्स
ब्रिटिश पॉप स्टार राबी विलियम्स मास्को में वि कप के उद्घाटन समारोह में कार्यक्रम पेश करेंगे। फीफा और विलियम्स के प्रतिनिधियों ने यह जानकारी दी। मशहूर गायक विलियम्स रूस की एडा गारीफुलिना के साथ परफार्म करेंगे। यह कार्यक्रम रूस और सउदी अरब के बीच विश्व कप के उद्घाटन मैच से ठीक पहले होगा। विलियम्स ने एक बयान में कहा कि विश्व कप में परफार्म करना उनके बचपन का सपना था और यह यादगार शो होगा। उनके गीत ‘पार्टी लाइक ए रशियन’ ने दो साल पहले यहां काफी विवाद पैदा किया था। इस गीत के बोल में एक नेता के बारे में कहा गया था जो काफी कुछ रूसी राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन से मिलता था। विलियम्स ने हालांकि उस समय ट्विटर पर कहा था कि वह गीत पुतिन के बारे में नहीं है। ब्राजील के पूर्व स्ट्राइकर रोनाल्डो भी उद्घाटन समारोह का हिस्सा होंगे।

मैचों में इस्तेमाल होगी ’टेलीस्टार 18‘ बॉल
 नई दिल्ली। पिछले कुछ वर्षो से विशव कप में इस्तेमाल होने वाली फुटबाल के आकार और माप को लेकर काफी रिसर्च होने लगी है और इस बार रूस में होने वाले महासमर में इस्तेमाल होने वाली आधिकारिक मैच बॉल ‘टेलीस्टार 18’ में पुरानी और नई तकनीक और डिजाइन का मिश्रण है। यह देखने में काफी दिलचस्प है जो एडिडास की जर्सी से काफी मेल खाती है, पर 14 जुलाई के बाद ही इसकी खासियत और इसकी कमियों की जानकारी मिल पाएगी। मूल टेलीस्टार फुटबाल का इस्तेमाल 1970 फीफा विश्व कप में किया गया था, जो काले और सफेद पैटर्न की थी क्योंकि तब टीवी की स्क्रीन रंगीन नहीं होती थी। टेलीस्टार में 32 पैनल थे जबकि ‘टेलीस्टार 18’ में छह पैनल हैं। पिछली आधिकारिक बॉल ‘ब्रजुका’ काफी रंगीन थी जबकि 2010 दक्षिण अफ्रीका वि कप की गेंद ‘जाबुलानी’ की इसके आकार और हल्केपन को लेकर काफी आलोचना की गई थी।

भविष्य विश्व कप पर निर्भर : मेसी
ब्रोनित्सी (रूस)। अज्रेटीना के कप्तान लियोनल मेसी ने कहा है कि उनका अंतरराष्ट्रीय भविष्य रूस में होने वाले वि कप में उनके देश के प्रदर्शन पर निर्भर करेगा। मेसी ने स्पेन के दैनिक स्पोर्ट को दिए साक्षात्कार में कहा, ‘यह इस पर निर्भर करेगा कि हम कितना आगे तक जाते हैं, हम टूर्नामेंट को कैसे खत्म करते हैं।’ बार्सिलोना के इस फार्वड ने कहा, ‘हम लगातार तीन फाइनल गंवा चुके हैं जिसके कारण मीडिया के साथ हमें कुछ मुश्किल हालात का सामना करना पड़ा है।’ उन्होंने कहा, ‘विशेषकर अर्जेंटीना की मीडिया के साथ क्योंकि इन तीन फाइनल में जगह बनाना क्या मायने रखता है इसे लेकर हमारे नजरिए में मतभेद है।’ अर्जेंटीना की टीम 2014 वि कप फाइनल में जर्मनी के खिलाफ अतिरिक्त समय के बाद 1-0 से हार गई थी जिसके बाद टीम को 2015 और 2016 के कोपा अमेरिका टूर्नामेंट में चिली के खिलाफ पेनल्टी शूटआउट में हार का सामना करना पड़ा।

सुआरेज का अच्छे बर्ताव का वादा
मोंटेवीडियो (उरुग्वे)। उरुग्वे की प्राथमिकता इस हफ्ते शुरू होने वाले विश्व कप में स्टार खिलाड़ी लुई सुआरेज को नियंत्रण में रखना होगी। इटली के डिफेंडर जार्जियो चिलिनी को काटने के कारण सुआरेज को 2014 वि कप से बाहर कर दिया गया था जिसके बाद उरुग्वे की टीम भी प्री-क्वार्टर फाइनल में कोलंबिया से हार गई थी। सुआरेज ने वादा किया कि वह अब बदल गए हैं और ब्राजील की तुलना में रूस में उनका बर्ताव बेहतर होगा। ब्राजील में प्रतिबंधित होने से पहले सुआरेज ने दो गोल दागे थे। सुआरेज ने कहा, ‘वह मेरी गलती थी। इसलिए मुझे अपना और उरुग्वे का कर्ज चुकाना है, अच्छी छवि दिखाने की कोशिश करूंगा।’