पुरुष टेबल टेनिस टीम ने जीता सोना

भाषा, गोल्ड कोस्ट

भारतीय पुरुष टेबल टेनिस टीम ने 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स में नाइजीरिया को 3-0 से हराकर टीम स्पर्धा में क्लीन स्वीप किया। भारतीय महिला टीम ने रविवार को सिंगापुर को हराकर स्वर्ण पदक अपने नाम किया था। इन खेलों में टेबल टेनिस को शामिल किए जाने के बाद यह पहली बार है जब भारत ने महिला और पुरुष दोनों वर्ग में टीम स्वर्ण पदक जीता है।

टेबल टेनिस में व्यक्तिगत और युगल मुकाबले अभी बाकी हैं और ऐसे में टीम स्पर्धा में शानदार प्रदर्शन कर भारतीय खिलाड़ियों ने अधिक पदक जीतने की आस जगा दी है। ऐसा तब है जब ग्लास्गो में 2014 में हुए खेलों में टेबल टेनिस में देश को सिर्फ पुरुष युगल में रजत पदक मिला था।

फाइनल के शुरुआती मुकाबले में शतर कमल ने नाइजीरिया के बोडे अबिओदुन से पहला सेट गंवाने के बाद 3-1 से मैच अपने नाम किया। उन्होंने 4-11, 11-5, 11-4, 11-9 से जीत दर्ज की। टीम के वरिष्ठ खिलाड़ी की तरह युवा साथियान गनासेकरन (विश्व रैंकिंग 46) ने भी पहले सेट में फिसलने के बाद सेगुन तोरेओला को 3-1 से हराया।

उन्होंने यह मुकाबला 10-12, 11-3, 11-3, 11-4 अपने नाम किया। इसके बाद साथियान और हरमीत देसाई की भारतीय जोड़ी ने अबिओदुन और ओलाजिदे ओमोतायो की जोड़ी को सीधे सेटो में 11-8, 11-5, 11-3 से परास्त कर टीम के लिए स्वर्ण पदक पक्का किया।