पीएम मोदी को राहुल की 'जादू की झप्पी' पर बॉलीवुड ने दी ये प्रतिक्रियाएं...

आईएएनएस, मुंबई

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा संसद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 'जादू की झप्पी' (गले लगाने) देने पर भारतीय फिल्म बिरादरी ने मिली-जुली प्रतिक्रिया दी है। फिल्मकार अनंत महादेवन ने ट्वीट किया, "इसमें कोई हैरानी की बात नहीं है कि भारतीय रंगमंच के दर्शकों की संख्या कम हो रही है। संसद के प्रदर्शन के मुकाबले हम कहीं नहीं टिकते हैं।"

राहुल ने शुक्रवार को लोकसभा में उस समय सबको हैरान कर दिया, जब अविश्वास प्रस्ताव के दौरान भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार पर जमकर हमला बोलने के बाद उन्होंेने मोदी की तरफ बढ़कर उन्हें गले लगा लिया। उन्होंने मोदी को गले लगाने के बाद आंख भी मारी, जिसके बाद ट्विटर पर मलयालम फिल्म 'ओरु अडार लव' के गीत से वायरल हुआ प्रिया प्रकाश के आंख मारने का वीडियो फिर से सुर्खियों में छा गया।

शोभा डे ने राहुल के इस अंदाज को दशक की घटना घटना बताते हुए लिखा, "आंख मारना! आंख मारना! गले लगना! गले लगना! कृपया और भी जादू की झप्पी।"

डे ने अंतर्राष्ट्रीय नेताओं को गले लगाने की मोदी की आदत की ओर इशारा करते हुए कहा, "क्या झप्पी है, राहुल! उम्मीद है इसे पाने वाले पर इसका जादू काम करेगा। गले लगाने के उत्सव में अगला कौन है? इससे स्पष्ट होता है कि गले लगाने पर सिर्फ मोदी का एकाधिकार नहीं है।"

राहुल की इस हरकत से नाराज सुमित्रा महाजन ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष का यह व्यवहार सदन की मर्यादा के खिलाफ है, लेकिन कई बॉलीवुड हस्तियों को यह व्यवहार बिल्कुल अजीब नहीं लगा और उन्होंने इसे अजीब बताने पर सवाल उठाए हैं।

फिल्मकार विनोद कापड़ी ने ट्वीट किया, "गले लगाना और प्यार फैलाना संसद की मर्यादा के खिलाफ है? हैरान हूं।"

संगीतकार विशाल ददलानी ने लिखा, "गले लगाने में बचकानी बात क्या है? वास्तव में यह प्यारा था। भाजपा को इसे सम्मान के साथ स्वीकार करना चाहिए और नकारात्मक व अक्खड़ बनने के बजाय बदले में शायद कुछ प्यार देना चाहिए। गले लगाने के पहले राहुल ने जो सवाल उठाए, सरकार को उसका जवाब भी देना चाहिए। हम यही सुनना चाहते हैं।"

विज्ञापन फिल्मकार राम सुब्रह्मण्यम ने कहा कि गले लगाने की इस घटना से परेशानी बस यही है कि गला जबरदस्ती लगा गया और इससे गलत संदेश गया।

छोटे पर्दे पर कुछ सबसे ज्यादा नाटकीय मोड़ वाले धारावाहिकों के लिए जानी जाने वाली निर्माता एकता कपूर ने कहा कि गांधी की इस पहल से "गले लगाने का एक नया अंदाज सामने आया है।"

अभिनेता राजकुमार राव को लगता है कि 20 जुलाई को आधिकारिक रूप से 'हग डे' घोषित कर दिया जाना चाहिए।