नॉटिंघम टेस्ट : भारत मजबूत स्थिति में, शतक से चूके कोहली

आईएएनएस, नॉटिंघम

कप्तान विराट कोहली (97) ने एक बार फिर शानदार प्रदर्शन कर यहां ट्रेंट ब्रिज मैदान पर इंग्लैंड के खिलाफ खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच के पहले दिन शनिवार को भारतीय पारी को मजबूत स्थिति में ला दिया। कप्तान का उपकप्तान अंजिक्य रहाणे (81) ने बखूबी साथ दिया। दोनों के बीच तीसरे विकेट के लिए हुई 159 रनों की साझेदारी के दम पर भारत पहले दिन का अंत छह विकेट के नुकसान पर 307 रनों के साथ करने में सफल रहा। इन दोनों के बीच यह साझेदारी तब आई जब क्रिस वोक्स ने पहले सत्र में भारत के तीन विकेट महज 89 रनों पर ही चटका दिए थे।

स्टम्प्स तक अपना पहला टेस्ट मैच खेल रहे ऋषभ पंत 32 गेंदों में दो चौके और एक छक्के की मदद से 22 रन बनाकर खेल रहे हैं। हार्दिक पांड्या (18) को 87वें ओवर की आखिरी गेंद पर जेम्स एंडरसन ने अपना शिकार बनाया और इसी के साथ दिन का खेल समाप्त करने की घोषणा कर दी गई।

भारत ने पहले सत्र में अच्छी शुरुआत के बाद अपने तीन अहम विकेट खो दिए थे, लेकिन दूसरे सत्र में कोहली और रहाणे ने विकेट पर पैर जमाए रखे और एक भी विकेट नहीं गिरने दिया। यह दोनों बल्लेबाज तीसरे सत्र में आउट हुए।

ब्रॉड की एक गेंद रहाणे के बल्ले का बाहरी किनारा लेकर स्लिप पर खड़े एलिस्टर कुक के हाथों में जा समाई और इस साझेदारी का अंत हुआ। रहाणे ने अपनी बेहतरीन पारी में 131 गेंदों का सामना किया 12 चौके लगाए। रहाणे का विकेट 241 के कुल स्कोर पर गिरा।

कप्तान कोहली अपने 23वें टेस्ट शतक की ओर बढ़ रहे थे। उन्होंने अपनी पारी में अच्छे शॉट्स लगाए, लेकिन इसी बीच लेग स्पिनर आदिल राशिद की एक गेंद उनके बल्ले का किनारा लेकर स्लिप में स्टोक्स के हाथों में चली। कोहली अपने शतक से महरूम रह गए। उन्होंने अपनी पारी में 152 गेंदों का सामना किया और 11 चौके लगाए। कोहली 279 के कुल योग पर पवेलियन लौटे।

पंत अपने आक्रामक अंदाज के लिए जाने जाते हैं और यह अंदाज उन्होंने टेस्ट में भी जारी रखा। पंत ने खाता अपने टेस्ट करियर की दूसरी गेंद पर राशिद पर शानदार छक्का मार कर खोला। उन्होंने पांड्या का अच्छा साथ दिया और दोनों ने मिलकर टीम का स्कोर 300 के पार पहुंचाया। एंडरसन ने शानदार गेंद से पांड्या का अंत किया और भारत के खिलाफ अपने 100 विकेट पूरे किए।

एंडरसन टेस्ट में भारत के खिलाफ सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाजों में दूसरे स्थान पर हैं। पहले स्थान पर श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन हैं जिन्होंने टेस्ट में भारत के खिलाफ सबसे ज्यादा 105 विकेट लिए हैं।

इससे पहले, वोक्स ने पहले सत्र में तीन विकेट झटककर अच्छी शुरुआत के बावजूद भारत को बैकफुट पर धकेल दिया। इंग्लैंड के कप्तान जोए रूट ने टॉस जीतकर भारत को बल्लेबाजी करने के लिए आमंत्रित किया। इस सीरीज में पहली बार भारतीय सलामी जोड़ी ने टीम को अच्छी शुरुआत दी। शिखर धवन (35) और लोकेश राहुल (23) ने पहले विकेट के लिए 60 रन जोड़े।

वोक्स ने पहले धवन को जोस बटलर के हाथों कैच कराया और फिर 65 के कुल स्कोर पर राहुल को पवेलियन भेज दिया। वोक्स ने अपना तीसरा शिकार चेतेश्वर पुजारा (14) को बनाया। पुजारा 27वें ओवर की चौथी गेंद पर आदिल राशिद के हाथों लपके गए और उनके विकेट के साथ ही पहले सत्र की समाप्ति की घोषणा कर दी गई।