दुनिया की सबसे तेजी से बढती अर्थव्यवस्थाओं में टॉप पर होगा भारत

भाषा, न्यूयॉर्क

भारत आगामी दशक में दुनिया की सबसे तेजी से बढने वाली अर्थव्यवस्थाओं की सूची में शीर्ष पर होगा। इस दौरान भारत की आर्थिक वृद्धि दर सालाना 7.9 प्रतिशत रहने का अनुमान है। इस लिहाज से भारत की वृद्धि दर चीन और अमेरिका से अधिक रहेगी। हार्वर्ड विश्वविद्यालय की एक अध्ययन रिपोर्ट में यह अनुमान लगाया गया है।  
    
हार्वर्ड विश्वविद्यालय में अंतरराष्ट्रीय विकास केंद्र ने कल नया वृद्धि अनुमान जारी करते हुए कहा कि भारत और वियतनाम जैसे देश जिन्होंने अपनी अर्थव्यवस्थाओं का विविधीकरण अधिक जटिल क्षेत्रों में किया है, आगामी दशक में सबसे तेजी से बढने वाली अर्थव्यवस्था होंगे।      

रिपोर्ट में कहा गया है कि सबसे तेजी से बढने वाली अर्थव्यवस्थाओं में 7.9 प्रतिशत की वार्षिक वृद्धि के साथ भारत शीर्ष पर रहेगा। भारत ने अपने निर्यात आधार का विविधीकरण अधिक जटिल क्षेत्रों मसलन रसायन, वाहन और कुछ इलेक्ट्रॉनिक्स में किया है।  
    
रिपोर्ट कहती है कि भारत की उत्पादन क्षमता उसकी मौजूदा आय स्तर के अनुमान से कहीं अधिक हैं। इस लिहाज से आगामी दशक में भारत तेज वृद्धि दर्ज करेगा।      

शोधकर्ताओं ने पाया कि जटिलता अवसर सूचकांक ( सीओआई ) में भारत की स्थिति सबसे बेहतर है। इसमें यह देखा जाता है कि आप अपने मौजूदा ज्ञान का इस्तेमाल किस तरह से लगाएंगे जिससे नए जटिल उत्पाद क्षेत्र में प्रवेश किया जा सके।