तेल की कीमतों में लगी आग, मुंबई में पेट्रोल 86.56 रुपये प्रति लीटर पहुंचा

भाषा , नयी दिल्ली

रुपए की विनिमय दर में गिरावट और अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के भाव में तेज उछाल के बीच देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतें सोमवार को अपने सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गईं।

तेल कंपनियों की सोमवार को जारी अधिसूचना के अनुसार दिल्ली में पेट्रोल का भाव 79.15 रुपये प्रति लीटर और डीजल 71.15 रुपये प्रति लीटर के नए रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच गया है।

दिल्ली में पेट्रोल का भाव 31 पैसे और डीजल का भाव 39 पैसे प्रति लीटर की नयी वृद्धि की गयी है।

इससे पहले 28 मई को पेट्रोल के दाम 78.43 रुपये प्रति लीटर के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचे थे। उस दिन मुंबई में पेट्रोल की कीमत 86.24 रुपये प्रति लीटर रही।

सोमवार को मुंबई में पेट्रोल 86.56 रुपये प्रति लीटर हो गया।

डीजल और प्रेट्रोल माल और सेवाकर (जीएसटी) से बाहर हैं। इसलिए राज्यों में इन पर स्थानीय बिक्री कर की दरें अलग-अलग होने से पेट्रोलियम ईंधन के मूल्य भी अलग-अलग हो जाते हैं।

कर भार कम होने के कारण दिल्ली में ईंधन के दाम अन्य मेट्रो शहरों और राज्यों की राजधानियों की तुलना में सबसे कम है।

पिछले साल मध्य जून से कंपनियों को लागत के हिसाब से ईंधन के भाव में दैनिक स्तर पर संशोधन की छूट दी गयी थी। इस व्यवस्था के तहत डीजल के दाम में सोमवार को किसी एक दिन की सबसे बड़ी वृद्धि है।

मुंबई में डीजल की कीमत सोमवार को 75.54 रुपये प्रति लीटर हो गई।

पेट्रोल 16 अगस्त के बाद से अब तक दो रुपये प्रति लीटर और डीजल 2.42 रुपये प्रति लीटर बढ़ गया है।

इससे पहले डीजल 28 मई को 69.31 रुपये प्रति लीटर पर था लेकिन 27 अगस्त को यह रिकॉर्ड टूट गया और सोमवार तीन सितंबर को यह एक नए रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच गई।

अधिकारियों ने बताया कि डॉलर के मुकाबले रुपये के 71 तक पहुंच जाने और कच्चे तेल की कीमतें पिछले पखवाड़े में सात डॉलर प्रति बैरल तक बढ़ने से मुख्य तौर पर ईंधन की खुदरा कीमतें बढ़ीं हैं।

रुपये की विनिमय दर में एक माह के अंद 2.5 प्रतिशत की गिरावट आयी है।