तेजप्रताप के फेसबुक पोस्ट के बाद सियासत गरम, जदयू-भाजपा ने राजद पर तंज कसा

आईएएनएस, पटना

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद के बड़े बेटे और पूर्व मंत्री तेजप्रताप यादव के एक फेसबुक पोस्ट के बाद बिहार की सियासत गरम हो गई। इस पोस्ट को लेकर राजद के विरोधी लालू प्रसाद और उनके दोनों बेटों तेजप्रताप और तेजस्वी पर जमकर निशाना साध रहे हैं। वैसे, तेजप्रताप ने अब वह पोस्ट हटा दिया है और फेसबुक अकाउंट हैक होने की बात कर रहे हैं।

बिहार में सत्ताधारी गठबंधन में शामिल जनता दल (युनाइटेड) के प्रवक्ता नीरज कुमार ने बिना नाम लिए मंगलवार को ट्वीट कर पूछा, "का भतीजा! सब ठीक है न? बेनामी संपत्ति हाथ लगी, न 'हैंडलिंग व स्टोरेज एजेंट' बनाया गया, तकलीफ तो होगी! ना मां बात मान रही और ना ही पिता।"

उन्होंने आगे लिखा,"वैसे कबीर जी पहले ही कह चुके है-'मन मैला तन उजला बगुला कपटी अंग। तासों तो कौआ भला तन मन एकही रंग।'

नीरज ने कहा कि अगर तेजप्रताप का फेसबुक अकाउंट हैक हो गया है, तब उन्हें मामला दर्ज करवाना चाहिए। उन्होंने तेजप्रताप के नीतीश के महागठबंधन में 'नो एंट्री' के बयान पर तंज कसते हुए कहा, "चाचा (नीतीश कुमार) के एंट्री बंद करने के पहले तेजप्रताप को अब अपनी एंट्री बचानी होगी।" उन्होंने कहा कि अभी तो तेजप्रताप की फिल्म 'रुद्र अवतार' का ट्रेलर भी जारी नहीं हुआ और तांडव शुरू।

उन्होंने इशारों ही इशारों में कहा कि तेजस्वी यादव ने तेजप्रताप से शंख फूंकवाए थे अब वे घर में ही तांडव करने लगे। इस क्रम में उन्होंने लालू प्रसाद को 'धृतराष्ट्र' बताते हुए कहा कि छोटे बेटे को गद्दी सौंपेंगे तो महाभारत होना ही है।

राजद के विधायक और प्रवक्ता भाई बीरेंद्र ने कहा कि लालू परिवार में सब ठीक है। कहीं कोई परेशानी नहीं है। उन्होंने कहा कि विरोधियों को 'लालू फोबिया' हो गया है।

उल्लेखनीय है कि सोमवार को तेजप्रताप यादव के फेसबुक अकाउंट पर उन्होंने एक पोस्ट साझा किया था, जिनमें उन्होंने परिवार में और पार्टी में उनकी उपेक्षा किए जाने के गंभीर आरोप लगाए थे।

उन्होंने अपनी पोस्ट में लिखा था उनकी पार्टी के ही कई लोग उनके विरुद्ध अफवाह फैलाने का काम कर रहे हैं।

उन्होंने इसका खुलासा करते हुए आगे लिखा कि राजद के नेता ओम प्रकाश यादव उर्फ भुट्टटू और विधान पार्षद (एमएलसी) सुबोध राय गलत अफवाह फैला रहे हैं। उन्होंने कहा था कि जब वह इसकी शिकायत मां राबड़ी देवी से करते हैं तो उन्हें ही डांट पड़ जाती है। इस कारण वे काफी दबाव में हैं।

उन्होंने लिखा कि वह इन वजहों से काफी दबाव में हैं और अगर ऐसा ही रहा तो राजनीति छोड़ देंगे।

इस खबर के मीडिया में आने के बाद यह पोस्ट हटा ली गई। इसके बाद तेजप्रताप यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर तंज कसते हुए कहा कि एकबार फिर 'चाचा' ने उन्हें तोड़ने की कोशिश की है।

तेज प्रताप ने ट्वीट कर कहा, "आरएसएस और भाजपाई आईटी सेल द्वारा मेरा अकाउंट हैक कर हमारे परिवार के बारे में दुष्प्रचार किया जा रहा है। पहले भी मेरे पिता का फेसबुक पेज को आरएसएस के एक समर्थक द्वारा हैक किया गया था। वह हैकर काफी दिनों जेल में भी रहा था।"