तालिबान आतंकवादियों का अफगान सैन्यअड्डे पर कब्जा, 17 सैनिक मारे गए

आईएएनएस, मैमना (अफगानिस्तान)

अफगानिस्तान के उत्तरी भाग में तीन तीन की भीषण लड़ाई के बाद तालिबान आतंकवादियों ने एक सैन्यअड्डे पर कब्जा कर लिया और 17 सैनिकों की हत्या कर दी। अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक, यह संघर्ष बीते शनिवार को सैकड़ों तालिबान आतंकवादियों के कैंप-ए-चेनायीहा अड्डे पर हमला व घेर लेने के बाद शुरू हुआ। यह सैन्य अड्डा फरयाब प्रांत सुदूर घोरमाच जिले में है, जिसमें करीब 106 सैनिक तैनात थे।

तालिबान का उत्तर में हमला, दक्षिणपूर्व के गजनी प्रांत में संघर्ष के दौरान हुआ है। गजनी में बीते सप्ताह से हो रहे संघर्ष के दौरान सैकड़ों लोगों की मौत हुई है। लड़ाई के पांचवें दिन भी शहर में मंगलवार को संघर्ष व हवाई हमलों की सूचना है।

मानवीय मामलों के संयुक्त राष्ट्र के समन्वय कार्यालय ने चेताया है कि गजनी के निवासियों को बुनियादी सेवाएं व चिकित्सकीय देखभाल पाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं।

प्रांतीय परिषद के एक अधिकारी सेबघतुल्ला सेलाब ने कहा, "घिरे हुए सैनिकों ने कड़ा प्रतिरोध दिखाया और हमलावरों से बीते तीन दिनों से लड़ाई लड़ी, लेकिन अड्डे पर अतंकवादियों ने कब्जा कर लिया गया क्योंकि सैनिकों के बार-बार आग्रह के बावजूद भी उन्हें कोई आपूर्ति या सहायता नहीं मिली।"

उन्होंने कहा कि 15 सैनिक घायल हुए हैं और पांच को आतंकवादियों ने बंधक बना लिया है, जबकि बहुत से सैनिक आसपास के गांवों व पर्वतीय क्षेत्रों में भाग गए हैं।

तालिबान ने प्रांत में अड्डे पर कब्जे के बाद 14 बख्तरबंद सैन्य वाहन, हथियार, गोलाबारूद पर कब्जा जमा लिया है।