डेटा लीक : जुकरबर्ग ने दिलाया भरोसा- भारत में 2019 के चुनाव रहेंगे सुरक्षित

भाषा, वाशिंगटन

ब्रिटेन की डेटा फर्म कैंब्रिज एनालिटिका के कथित तौर पर फेसबुक उपयोगकर्ताओं की निजी जानकारी चुराने के मामले में अमेरिकी संसद के समक्ष आज पेश हुए फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग ने कहा कि उनकी कंपनी भारत सहित विश्वभर में होने वाले चुनावों की शुचिता सुनिश्चित करने को प्रतिबद्ध है।         

डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति पद के अभियान से जुड़ी डेटा फर्म कैंब्रिज एनालिटिका को चुनावों को प्रभावित करने की कोशिश में 8.7 करोड़ उपयोगकर्ताओं की निजी जानकारी एकत्रित करने से रोकने में नाकाम रहने के बाद अमेरिकी संसद में जुकरबर्ग को अमेरिकी संसद में पेश होने को कहा गया था।           

इस बड़ी लापरवाही के बाद विभर में नाराज लोगों ने  डिलीटफेसबुक नामक एक अभियान भी चलाया।           

जुकरबर्ग ने सांसदों के समक्ष कहा, ‘ये कुछ बड़े मसले हैं जिनका सामना कंपनी कर रही है और इसे ठीक करने की जिम्मेदारी हमारी है। यह वर्ष 2018 में मेरी प्राथमिकताओं में से एक है।’           

उन्होंने कहा कि फेसबुक अमेरिका , भारत , ब्राजील और पाकिस्तान जैसे देशों में होने वाले चुनावों की शुचिता सुनिश्चित करने के लिए कदम उठा रहे हैं।           
जुकरबर्ग पहले भी उपयोगकर्ताओं और जनता से कई बार माफी मांग चुके हैं लेकिन यह उनके करियर में पहली बार है जब वह संसद के सामने उपस्थित हुए हैं। वह सदन की ऊर्जा एवं वाणिज्य समिति के सामने आज बयान देंगे।