जयपुर में बोले पीएम मोदी- विकास ही केन्द्र सरकार का एकमात्र एजेंडा, कांग्रेस पर कसा तंज

वार्ता, जयपुर

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विकास को अपनी सरकार का एक मात्र एजेंडा बताते हुए कहा कि पांच करोड़ लोगों को गरीबी से निकाला जा चुका है तथा 2022 तक किसानों की आय दुगनी करने के लक्ष्य पर सरकार काम कर रही है।

मोदी ने किसानों की फसल का समर्थन मूल्य में डेढ गुणी से ज्यादा वृद्धि करने के  फैसले के बाद राजस्थान में अपनी पहली सभा में सरकारी योजनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि सरकार किसानों के हित के लिए बीज की खरीद से फसल की बिक्री तक का प्रबंध करने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि फसल की लागत का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य करने से किसानों को काफी फायदा हुआ है। खरीद प्रक्रिया को प्रभावी बनाने के लिए राज्य सरकारों को निर्देश दिए गए है।
 
राजस्थान सरकार समर्थन मूल्य पर 11 हजार करोड़ रुपए की खरीद कर चुकी है। उन्होंने कांग्रेस का नाम लिये बगैर कहा कि सरकार की नीतियों का विरोध करने वाली कुछ पार्टियों 'बेल गाडी'  हो गयी और उनके कई दिग्गज नेता और मंत्री  जमानत पर है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने गरीबी हटाने के नाम पर 70 साल तक देश पर राज किया लेकिन कांग्रेस अपने ही समुदाय और परिवार में सिमट कर रह गयी है।

मोदी ने विरोधी दलों द्वारा सेना की क्षमता और उसके सर्मपण पर उठाये जाने वाले सवालों को दुर्भाज्ञपूर्ण बताते हुये कहा कि इन पार्टियों और नेताओं ने देश के स्वाभिमान के लिये सर्वस्व लुटाने वाले जवानों और सेना का  अपमान कर महापाप किया है। उन्होंने कहा कि केन्द्र की भाजपा सरकार ने वर्षो से लंबित सैनिकों के वन रेंक वन पेंशन मामले को लागू कर सैनिकों की मांग पूरी की है।
       
उन्होंने अपने विरोधियों पर चुटकी लेते हुये कहा कि देश में एक वर्ग ऐसा है जिसे मोदी एवं भाजपा से हमेशा से ही नफरत रही है और वह सरकार की योजनाओं और कार्यक्रमों को सफल नहीं देखना चाहते, लेकिन राजस्थान के अलग अलग शहरों से आये इन लाभार्थियों ने यह साबित कर दिया है कि सरकार की योजनाएं प्रभावी है और इन योजनाओं से उनके जीवन में बेहतर बदलाव आया है।
       
उन्होंने कहा कि केन्द्र और भाजपा शासित राज्य सरकार द्वारा संचालित की जा रही योजनाओं से लाभांवित हुये ऐसे लाभार्थियों से ही और लोगों को प्रेरणा मिलेगी और यही लोग इन योजनाओं के प्रचार प्रसार में सहभागी बनेगें। इससे अन्य लोगों को भी आगे बढने की जागरूकता पैदा होगी।

मोदी ने अपने चार साल के कार्यकाल का जिक्र करते हुये कहा कि केन्द्र द्वारा संचालित की गयी योजनाओं और आम लोगों की भागीदारी ने यह साबित कर दिया है कि उनके नेतृत्व में चल रही सरकार जन आंकाक्षाओं पर खरी उतरी है और आम लोगों का भी सरकार के प्रति विास बढा है।

उन्होंने कहा कि केन्द्र और राज्य की भाजपा सरकार की नीति न तो अटकाने की और न लटकाने की रही है और यही वजह है कि उसने समाज के सभी वगरे के लिये त्वरित फैसले लेकर देश के हर क्षेा , हर वर्ग के उत्थान के लिये पूरी क्षमता के साथ काम किया है।

मोदी ने अपने चालीस मिनट के भाषण में सर्वाधिक जोर किसानों की माली हालत को सुधारने पर देते हुये कहा कि सरकार द्वारा पहली बार समर्थन मूल्य पर खरीद मूल्य बढाकर डेढगुणा से अधिक किया गया है। सरकार की मशा है कि आगामी 2022 तक किसानों की फसल का लागत मूल्य दो गुणा हो जाये और इस दिशा में सरकार प्रतिबद्ध है।

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकारों ने पूरी पारदर्शिता के साथ योजनाओं को क्रियान्वित किया जिसके कारण आम जनता को इनका लाभ मिला। उन्होंने दोहराया कि राज्य की भाजपा सरकार ने सेवा धर्म और आम जनता की खुशहाली के ध्येय को लेकर ही योजनाओं का क्रियान्वयन किया।

 

मोदी मोदी के नारों के बीच प्रधानमंत्री ने कहा कि राजस्थान ने सदैव चुनौतियों से मुकाबला करना सीखा है और वह हर चुनौती का मुकाबला करना जानता है। उन्होंने राजस्थान को शोर्य, भक्ति, आध्यात्मक और बलिदान की भूमि बताते हुये कहा कि यहां की धरती ने परमवीर विजेता पीरू सिंह शेखावत जैसे सपूत दिये है। उन्होंने कहा कि राजस्थान ने सदैव अपनी संस्कृति और विरासत से अनूठी पहचान कायम की है।
     
उन्होंने अपने विकास पुरूष की छवि को कायम रखते हुये सबका साथ और सबका  विकास  के मां को दोहराते हुये कहा कि केन्द्र ने देश के 100 शहरों को स्मार्टसिटी बनाने की योजना शुरू की है जिसमें जयपुर अजमेर सहित कई शहरों को शामिल किया गया है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने इस योजना के लिये राजस्थान के लिये सात हजार करोड रूपये स्वीकृत किये है।

मोदी ने एक विदेशी रिपोर्ट का हवाला देते हुये कहा कि देश में गत दो साल में पांच करोड़ लोग गरीबी से मुक्त हुये है। उन्होंने कहा कि इसका मुख्य कारण सरकार की साफ और स्पष्ट नीति के साथ ही जनता के प्रति अपनी जिम्मेदारी की भावना रही है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने राजस्थान से ही मुद्रा कार्ड योजना की शुरूआत की थी और इसके तहत पूरे देश में साढे चौदह करोड़ से अधिक किसानों को कार्ड दिये गये है। अकेले राजस्थान में ही ढाई करोड़ किसानों को मुद्रा कार्ड दिये गये है।
      
इससे पूर्व प्रधानमंत्री ने केन्द्र और राज्य सरकार की ओर से चलायी जा रही विभिन्न योजनाओं के कारण लाभावितों के जीवन में आये बदलाव और अनुभवों के संबंध में प्रस्तुतिकरण को देखा और 13 लाभार्थियों से व्यक्तिगत रूप से मिलकर उनके साथ फोटो खिंचवायी। मोदी ने सभा में जोधपुर, जैसलमेर सहित कई शहरों से आये किसानों के साथ भी फोटों खिचवायें।

इससे पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने लाभार्थियों के साथ प्रधानमंत्री के जनसंवाद कार्यक्रम की शुरूआत करते हुये कांग्रेस पर कटाक्ष किया कि तत्कालीन सरकार द्वारा गरीबों के आवास के लिये चलायी गयी इंदिरा आवास योजना के नाम पर लोगों से वसूली की जाती थी और चुनाव के समय आवास आवंटन का नाटक किया जाता था। इसी तरह कांग्रेस सरकार द्वारा गरीबों को रोजगार देने के नाम पर शआबादी से बाहर दुकानों को आवंटित किया जाता था जिसका लाभ लाभार्थियों को नहीं मिल पाता था।