जयपुर: किसानों के आंदोलन जारी, हालात हुये सामान्य

वार्ता, जयपुर

किसान संगठनों के गांव बंद आंदोलन के सातवे दिन आज प्रदेश में हालात सामान्य रहे और अब मंडियों में सब्जी के बाद डेयरी में दूध की आपूर्ति भी लगभग सामान्य हो रही है।
          
आंदोलन के शुरू होने के बाद गत छह दिनों की अपेक्षा आज हालात सामान्य रहे और कहीं से भी किसी तरह के अप्रिय घटना के सामाचार नहीं मिले है। हालांकि आंदोलन का असर बीकानेर संभाग के श्रीगंगानगर, चुरू आदि स्थानों पर बना हुआ है जहां किसान गांव के बाहर नाकेबंदी कर अपनी सब्जियां खुद बेच रहे है।
        
राजधानी जयपुर में टैंकरों से दूध का संकलन सामान्य रहने ओर टैंकरों में तोड़ फोड़ तथा लूटपाट नहीं होने से कल सायं से ही गोल्ड दूध की आपूर्ति शुरू हो गयी है। डेयरी प्रशासन के अनुसार वर्तमान में आठ लाख तीस हजार लीटर से अधिक का दूध संकलित हो रहा है। वहीं राजधानी की प्रमुख मुहाना मंडी में सब्जियों की आवक लगातार बनी हुयी है जिसके कारण मंडियों में धीरे धीरे रोनक फिर से बढ़ने लगी है1
       
डेयरी प्रबंघन के अनुसार दूघ संकलन के बराबर होने के कारण अब अन्य डेयरियों से दूध मंगाने की जरूरत नही है फिर भी एहतियात के तौर पर अलवर डेयरी से कुछ दूध जयपुर डेयरी द्वारा मंगवाया गया है।
         
आंदोलन से सर्वाधिक रूप से प्रभावित हुए बीकानेर संभाग में भी किसानों का विरोध धीरे-धीरे शांत होता जा रहा है। वहां भी छिटपुट घटनाओं के अलावा कोई बड़ी घटना नहीं हुई है।