जब कुत्तों ने किया रैंप वॉक...जीता सबका दिल

अभिषेक तिवारी, सहारा न्यूज ब्यूरो (नई दिल्ली)

किसी फैशन शो के दौरान रैंप पर मॉडल को अलग-अलग परिधानों के साथ चलते तो आपने खूब देखा होगा, लेकिन क्या कभी आपने पालतू जानवरों को रैंप वॉक करते देखा है। दिल्ली के अशोका होटल में खास पालतू जानवरों के लिए ‘वॉक विद योर पेट’ नाम से एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जहां तकरीबन 16 देशी-विदेशी नस्ल के कुत्तों ने सज-धज कर रैंप वॉक किया और सबका मन मोह लिया। इस आयोजन का मकसद जानवरों के प्रति इंसानों में संवेदना बढ़ाना और उनकी देखभाल करने वालों को एक मंच पर साथ लाना था।

रविवार को होटल अशोका में आयोजित इस कार्यक्रम में लोगों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया और अपने-अपने पालतू जानवरों को लेकर आयोजन में शामिल होने पहुंचे। कई नस्ल के कुत्ते सज-धजकर लोगों के आकर्षण का केंद्र बने हुए थे। मौके पर बने स्टेज को खास तौर से रैंप वॉक के लिए तैयार किया गया था, जहां आयोजन में हिस्सा लेने पहुंचे 25 से भी ज्यादा कुत्तों व कुछ अन्य पालतू जानवरों ने रैंप वॉक कर वहां मौजूद सभी के चेहरे पर मुस्कान बिखेर दिया।

आयोजकों ने बताया, इनमें 16 अलग-अलग नस्ल के कुत्ते शामिल हुए हैं, जिनमें 2 देशी व 14 विदेशी नस्ल के कुत्तों ने हिस्सा लिया। इस आयोजन में टॉय पौम, टॉय पुडल, पग, पौम, कल्चरल कौम्ब, गोल्डन रिट्रीवर, शीहत्जू आदि नस्ल के कुत्तें इस शो का हिस्सा बने।

लोगों की जुबानी..
इस शो में शामिल होने के लिए अपने पालतू कुत्ते के साथ पहुंचे फैशन डिजाइनर अमित तलवार ने बताया कि उनके पास कल्चरल कौम्ब नस्ल का पालतू कुत्ता है जिसे वह प्यार से ब्लींग बुलाते हैं। उन्होंने बताया कि यह काफी संवेदनशील नस्ल का कुत्ता होता है, जो मौसम का ज्यादा बदलाव बर्दास्त नहीं कर पाता।

शो में गौर्डन नामक टॉय पौम नस्ल के अपने कुत्ते साथ पहुंची जाह्नवी ने बताया, उन्होंने गुरुग्राम में खास कुत्तों के लिए देश का पहला होटल खोला है, जहां कई नस्ल के कुत्तों को रखा जाता है और उनके हर ऐशो आराम का ध्यान रखा जाता है।

प्रीति सिंह अपने टॉय पुडल नस्ल के कुत्ते के साथ पहुंची थीं, जिसे उन्होंने उजबेस्तिान से मंगाया था। यह कुत्ता पिछले छह सालों से उनके पास है और काफी इंटेलिजेंट नस्ल का कुत्ता माना जाता है।

डॉग गुरू ने सिखाया गुर..
इस मौके पर पहुंची डॉग गुरू नाम से मशहूर अमृत किरान्या ने पालतू कुत्ते रखने वालों को कई उपयोगी बातें बताई, जैसे कुत्तों को दिन में सिर्फ एक बार ही खाना देना चाहिए, क्योंकि उनका पाचनतंत्र दिन में सिर्फ एक बार ही खाने को पचाने के लिए बना है। कुत्तों का ख्याल उनके नस्ल के हिसाब से करनी चाहिए, हर कुत्ते को एक तरह से नहीं रखा जा सकता। हर कुत्ते को प्रतिदिन व्यायाम करवाया जाना चाहिए और रोजाना करीब 15 मिनट के लिए ब्रशिंग की जानी चाहिए।