जन्माष्टमी पर मथुरा के मंदिरों में चाक-चौबंद सुरक्षा

वार्ता, मथुरा

उत्तर प्रदेश के मथुरा में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर पुलिस ने मंदिरों एवं अन्य स्थानों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गये हैं।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बबलू कुमार ने रविवार को यहां बताया कि वृन्दावन के तीन मंदिरों में जन्माष्टमी मनाने के कारण वहां पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गए हैं। साथ ही शाम को श्रीकृष्ण जन्म स्थान में आने वाले अपार जनसमूह को देखते हुए वहां पर किले जैसी व्यवस्था की गई है। उन्होंने बताया कि श्रीकृष्ण जन्म स्थान की अभेद्य सुरक्षा व्यवस्था की गई है।

उन्होंने बताया कि सोमवार को जन्माष्टमी के पर्व को देखते हुए पूरे क्षेा को तीन जोन एवं 16 सेक्टर में विभाजित किया गया है। इसके अलावा 16 वाच टावर एवं कन्ट्रोल रूम में लगे सीसीटीवी की मदद से तीर्थ यात्रियों एवं अन्य पर निगरानी की जाएगी।

श्री कुमार ने बताया कि सुरक्षा की दृष्टि से पांच अपर पुलिस अधीक्षक, 18 पुलिस उपाधीक्षक, 35 निरीक्षक, 200 उपनिरीक्षकों के अलावा 170 मुख्य आरक्षी, पांच महिला निरीक्षक, 25 महिला सब इंसपेक्टर, 50 एलआईयू, 1370 कांस्टेबलों के अलावा आठ कम्पनी पीएसी एवं दो कम्पनी आरएएफ की लगाई गई है।

उनका कहना था कि जेबकटी, चेन छीनने आदि की घटना को रोकने के लिए प्रमुख स्थानों पर सादे कपड़ो में पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं। जन्म स्थान पर प्रवेश गोविन्दनगर गेट से तथा निकास मुख्य गेट से होगा।      

इस बीच श्रीकृष्ण जन्मस्थान सेवा संस्थान के प्रमुख सदस्य गोपेरनाथ चतुव्रेदी ने बताया कि जन्मस्थान के प्रवेश मागरें पर सामान रखने के केन्द्र बनाए गए हैं। तीर्थयात्री वहां सामान रखने के साथ रसीद जरूर लें। जन्मस्थान के बाहर खुले क्षेत्र मे अस्थाई शामियाने लगाए गए हैं जहां तीर्थयात्री विश्राम कर सकते हैं। मोबाइल, कैमरा, बीड़ी, माचिश, सिगरेट आदि लाने वालों को जन्मस्थान में प्रवेश नहीं मिलेगा