चीन में पाया गया विशालकाय मच्छर

भाषा, बीजिंग

चीन के सिचुआन प्रांत में एक चीनी कीटवैज्ञानिक ने खौफनाक दिखने वाले एक विशालकाय मच्छर की खोज की है जिसके पंखों का फैलाव सवा 11 सेंटीमीटर या तकरीबन 4.4 इंच है।

सरकारी चीनी संवाद समिति शिन्हुआ की एक रिपोर्ट के मुताबिक पश्चिम चीन के कीट संग्रहालय (इंसेक्ट म्यूजियम ऑफ वेस्ट चाइना) के क्यूरेटर झाओ ली ने बताया कि इसका संबंध दुनिया की सबसे लंबी मच्छर प्रजाति होलोरूसिया मिकादो से है।

ली ने पिछले साल अगस्त में चेंगदू में माउंट क्विंगचेंग के फील्ड दौरे के दौरान इसका पता लगाया। उन्होंने बताया, ये मच्छर खौफनाक दिखते हैं, लेकिन ये खून नहीं चूसते। व्यस्क मच्छर का जीवन काल केवल कुछ दिनों का होता है और यह मुख्य रूप से पराग का सेवन कर जीते हैं। ली ने कहा, दुनिया में दसियों हजार प्रकार के मच्छर हैं। महज 100 प्रजाति खून पर पलते हैं और मानवों के लिए समस्या हैं।

होलोरूसिया मिकादो सिचुआन के पश्चिमी हिस्सों में, मुख्यत : चेंगदू के मैदानी इलाकों में और 2200 मीटर से नीचे पर्वतीय इलाकों में मिलते हैं। उन्हें क्रेन फ्लाई के तौर पर भी जाना जाता है। ली ने बताया, अपने विशाल शरीर के चलते वे उड़ने में कमजोर हैं। जब वे उड़ते हैं तो लगता है कि कुलांचे मार रहे हैं।

वे ज्यादातर उन इलाकों में पाए जाते हैं जहां पेड़ - पौधों की बहुतायत होती है। होलोरूसिया मिकादो की पहली बार खोज ब्रिटिश कीटवैज्ञानिक जान ओबाडिया वेस्टवुड ने 1876 में जापान में किया था। बहरहाल उनके खोजे हुए मच्छर के पंखों का फैलाव आठ सेंटीमीटर था।