चंद्रग्रहण आज: किसी को मिलेगी खुशी तो किसी को कष्ट, जानें आपकी राशि पर कैसा पड़ेगा प्रभाव

रघुवंश पांडेय , कानपुर (एसएनबी)।

सदी का सबसे लंबा पूर्ण चंद्रग्रहण आज (शुक्रवार) होगा। रात 11.54 से शुरू होने वाला यह ग्रहण 3.49 बजे तक चलेगा। इसके लिये सूतक दोपहर 2.54 मिनट से प्रारम्भ हो जायेगा।

ज्योतिषियों की मानें तो 104 साल बाद बन रहा यह अद्भुत संयोग वृषभ, वृश्चिक और मीन राशि के जातकों के लिये खुशियां लेकर आयेगा और अन्य राशियों पर बुरा असर डालेगा। यह दुर्लभ खगोलीय घटना भारत के अलावा आसपास के कई और देशों में देखी जा सकेगी। शुक्रवार रात पड़ने वाला सदी का सबसे लंबा चंद्रग्रहण उत्तराषढ़, श्रावण नक्षत्र मकर राशि पर रहेगा। ग्रहण 27 जुलाई की रात 11.54 बजे शुरू होगा और मोक्ष काल 3.49 बजे होगा। सूतक 27 जुलाई को दोपहर 2.54 मिनट से प्रारम्भ हो जायेगा।

गुरुपूर्णिमा के दिन लगने वाला यह पूर्ण चंद्रग्रहण 235 मिनट तक रहेगा। इस दौरान जप-तप और दान के लिये विशेष महत्व रहेगा। धार्मिक अनुष्ठानों से जुड़े लोगों का मत है कि इस दिन गुरुपूर्णिमा का उत्सव एवं संबंधित गुरुपूजन इत्यादि ग्रहण के सूतक प्रारम्भ (दिन 2.54 बजे) से पहले ही सम्पन्न कर लेना चाहिये। जानकारों की मानें तो यह पूर्ण चंद्रग्रहण कम से कम तीन महाद्वीपों में स्पष्ट रूप से देखा जा सकेगा। भारत के अलावा म्यांमार, पाकिस्तान, अफगानिस्तान, चीन, नेपाल और कुछ अन्य देशों के लोग इस दुर्लभ खगोलीय घटना के साक्षी बन सकेंगे। चंद्रग्रहण के दौरान चांद जब धरती की छाया में रहता है इसकी आभा रक्तिम हो जाती है, जिसे रक्तिम चंद्र या ब्लड मून कहते हैं। ऐसा तब होता है जब चांद पूरी तरह से धरती की आभा में ढक जाता है।

राशियों के अनुसार जानें क्या करें उपाय

पूर्ण चंद्रग्रहण से विभिन्न राशियों पर भी अच्छे-बुरे प्रभाव पड़ेंगे। किसी के लिये यह फायदेमंद होगा तो किसी के लिये नुकसानकारी।

ज्योतिषाचार्य पंडित रघुवंश पांडेय के मुताबिक पूर्ण चंद्रग्रहण से मेष राशि वालों को आजीविका के क्षेत्र में वृद्धि होगी। पितृ कष्ट, रोग और शत्रु परेशान कर सकते हैं।

वृषभ राशि के लिये यह चंद्रग्रहण अनुकूल और फलदायी साबित होगा। यह इस राशि के जातकों के मान सम्मान में वृद्धि करेगा। इस राशि के लोग श्री हनुमान चालीसा का पाठ करें तो शुभ फल प्राप्त होगा।

मिथुन राशि के लिये चंद्रग्रहण व्यवसाय में परिवर्तन, पारिवारिक तनाव लायेगा। इस राशि के जातकों के लिये दुर्गा सप्तशती का पाठ शुभ रहेगा।

कर्क राशि के जातकों के लिये आर्थिक संकट और वाहन दुर्घटना का दुयरेग बन रहा है। ऐसे लोग ओम नम: शिवाय का जप करें जो उन्हें शुभता प्रदान करेगा।

सिंह राशि के जातकों की नौकरी में परिवर्तन और धन की कमी का योग है। यह लोग आदित्य हृदय स्त्रोत का पाठ करें।

कन्या राशि के जातकों के लिये यह चंद्रग्रहण मिलाजुला प्रभाव लेकर आयेगा। इस राशि के जातकों के आत्मविश्वास में वृद्धि और धन प्राप्ति का योग तो है, पर पेट संबंधी विकारों का भी योग है। इस राशि के जातक विष्णु जी की पूजा करें।

तुला राशि के लोगों के लिये राजकीय कार्यों में बाधा और विद्यार्थियों के मन में भटकाव की स्थिति रहेगी। वह नारायण कवच का पाठ करें।

वृश्चिक राशि के लिये चंद्रग्रहण व्यावसायिक उन्नति और सम्मान में वृद्धि के रास्ते खोलेगा। ऐसे जातकों के लिये श्री हनुमान चालीसा का पाठ श्रेयस्कर होगा।

धनु राशि के लोग स्वास्य के प्रति विशेष सतर्कता बरतें क्योंकि उनके लिये दुर्घटना और धन हानि का योग है। विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करें।

मकर राशि के जातकों के लिये यह ग्रहण व्यावसायिक कार्यों में रुकावट, शारीरिक कष्ट, पारिवारिक क्लेश और आर्थिक संकट ला सकता है।

कुंभ राशि के लिये भी यह पारिवारिक क्लेश, अर्थ संकट और मानसिक परेशानियां लायेगा। राम रक्षा स्त्रोत का पाठ करने से शांति मिलेगी।

मीन राशि के जातकों के लिये विशेष फलदायी होगा। उनके आत्मविश्वास में वृद्धि होगी, मित्रों का सहयोग मिलेगा और अन्य कार्यों में भी बेहतर परिणाम मिलेंगे। नारायण कवच का पाठ करना बेहतर होगा।