'गिरफ्तार कार्यकर्ताओं के पत्र में थी ‘राजीव गांधी जैसी’ घटना के जरिए ‘मोदी राज’ खत्म करने की बात'

भाषा , मुंबई

महाराष्ट्र पुलिस ने आज कहा कि गिरफ्तार किये गए मानवाधिकार कार्यकर्ताओं के माओवादियों से संबंध होने के बारे में ‘ठोस सबूत’ हैं। साथ ही, इनमें एक कार्यकर्ता द्वारा आदान-प्रदान किए गए एक पत्र में ‘राजीव गांधी जैसी’ घटना की योजना बनाने का भी जिक्र है।           

महाराष्ट्र पुलिस के अतिरिक्त महानिदेशक (कानून व्यवस्था) परमवीर सिंह ने यहां संवाददाताओं से कहा कि रोना विल्सन और भाकपा (माओवादी) के एक नेता के बीच एक ई-मेल पत्र में राजीव गांधी जैसी घटना के जरिए ‘मोदी राज’ खत्म करने के बारे में कहा गया है।           

उन्होंने कहा कि पत्र में ग्रेनेड लांचर खरीदने के लिए धन की भी मांग की गयी है।           

पुलिस अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने माओवादियों के भूमिगत कार्यकर्ताओं और अन्य कार्यकर्ताओं के बीच आदान-प्रदान हुए हजारों पत्रों को जब्त किया गया है।    

सिंह ने कहा कि गिरफ्तार कार्यकर्ताओं के बीच आदान-प्रदान हुए कुछ पत्रों में कुछ बड़ा कदम उठाने की योजना बनाने के बारे में भी कहा गया है, ताकि लोगों का ध्यान खींचा जा सके।